जेएनएन, शाहजहांपुर : भाजपा की शांति मार्च से पूर्व दोनों पक्षों के भिड़ जाने पर अशांति हो गई। मामला डीसीबी चैयरमैन डीपीएस राठौर व गढिय़ा रंगीन के कार्यकर्ता विशंभर दयाल गुप्ता के बीच का था। जनसभा खत्म होने के बाद कैबिनेट मंत्री सुरेश कुमार खन्ना शांति मार्च के लिए मंच से उतर रहे थे।उनके साथ गढिय़ा रंगीन के विशंभर दयाल गुप्ता भी थे।

आगे आने को लेकर हुआ विवाद : जिला सहकारी बैंक के चेयरमैन डीपी सिंह राठौर, विशंभर को धक्का देकर आगे आ गए। इसी को लेकर विवाद शुरू हो गया। दोनों के बीच धक्का मुक्की हुई। कैबिनेट मंत्री के हस्तक्षेप के बाद मामला शांत हुआ। कार्यकर्ता विशंभर गुप्ता ने चेयरमैन डीपीएस राठौर के खिलाफ थाना सदर बाजार में तहरीर भी दी है। जिसमें उन्होंने गाली-गलौज का भी आरोप लगाया है।

भीड़ ज्यादा थी। इस कारण अनजाने में धक्का लग गया होगा। विशंभर दयाल गुप्ता भाजपा के कार्यकार्ता हैं। उनसे मीडिया के सामने ही बात हुई। मारपीट के आरोप निरर्थक है। यदि किसी की शिकायत है, तो बैठकर मामला निपटा लिया जाएगा।

डीपीएस राठौर, डीसीबी चेयरमैन

मंच से उतरते समय भाजपा नेता व डीसीबी चेयरमैन ने धक्का दे दिया। विरोध करने पर गाली गलौज शुरू कर दी। कैबिनेट मंत्री सुरेश खन्ना व जिलाध्यक्ष हरिप्रकाश वर्मा ने बचाया। मामले में तहरीर दे दी है।

विशंभर दयाल गुप्ता, भाजपा कार्यकर्ता

कार्यकर्ता की तरफ से सहकारी बैंक के चेयरमैन डीपी ङ्क्षसह राठौर के खिलाफ तहरीर मिली है। जिसमें धक्का-मुक्की, मारपीट और गाली-गलौज का आरोप लगाया है। मामले की जांच की जा रही है।

अमित सिंह, एसएसआइ थाना सदर बाजार

 

Posted By: Abhishek Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस