बरेली, जेएनएन। Crocodile Attack in Pilibhit : बाढ़ के दौरान नदियों से बहकर खेत-तालाबों में पहुंचे मगरमच्छ किसानों के लिए मुसीबत साबित हो रहे हैं। मगरमच्छ के हमलों में दो किसान घायल हो गए। जिनका निजी चिकित्सक के यहां उपचार कराया जा रहा है।

शुक्रवार को सुबह करीब साढ़े आठ बजे अमरिया क्षेत्र के गांव नगरिया कालोनी निवासी विश्वजीत व गौतम बर्मन अलग-अलग अपने खेतों की ओर जा रहे थे। विश्वजीत जब डबरी नदी में घुसकर निकल रहा था, तभी एक मगरमच्छ ने उसका पैर दबोच लिया। इस पर चीखने लगे। कुछ दूर खेतों पर काम कर रहे अन्य ग्रामीण तुरंत मौके पर पहुंच गए। उन्होंने जैसे तैसे किसान को मगरमच्छ के हमले से बचाया। इस हमले में विश्वजीत के पैर में घाव हो गया। दूसरी ओर गौतम बर्मन अपने खेत पर पहुंच गया था। वहां भी मेड़ के पास भरे पानी में एक मगरमच्छ बैठा हुआ था।

जैसे ही गौतम वहां पर पहुंचा तो मगरमच्छ ने उछाल मारकर उसी जांघ दबोच ली। तब उसने भी शोर मचाया। अन्य लोग मौके पर पहुंचे और उन्होंने काफी मुश्किलों के बाद किसान को मगरमच्छ के चुंगल से छुड़ाया। दोनों किसानों को उनके स्वजन निजी चिकित्सक के पास ले गए। वहां उनका उपचार किया गया। ग्रामीणों का कहना है कि बाढ़ के दौरान देवहा नदी से निकलकर कई मगरमच्छ डबरी, तालाब और खेतों में भरे पानी में जा पहुंचे हैं। ऐसे में खेत पर जाने के दौरान काफी सावधानी बरतनी पड़ती है। खेत की मेड़ के पास मगरमच्छ के मौजूद होने की सूचना सामाजिक वानिकी को दे दी गई है।

Edited By: Ravi Mishra