बरेली, जेएनएन। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एल्डिगो मैदान में किसान सम्मेलन को संबोधित करने पहुंचे।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने 2014 में देश के युवा, गरीब, किसान के लिए जो वादे किए थे। वह सभी पूरे हो रहे हैं ।

कभी कहा जाता था कि भारत दुनिया की नकल करता है लेकिन मोदी सरकार के बाद दुनिया भारत के दिखाए रास्ते पर चल रही है। दुनिया कोरोना से त्रस्त थी, तब हमारे किसान खेत से सोना उगा रहे थे। वे राष्ट्र कल्याण के कार्य में लगे थे। भारत की प्रगति से जलन करने वाले लोग ये सब स्वीकार नहीं कर पा रहे हैं। जिन्हें देश की प्रगति अच्छी नहीं लग रही, वे झूठ बोलकर लोगों को व्यवस्था से अलग करने का प्रयास कर रहे हैं । मगर, हम सत्य के आग्रही हैं। उसी राह पर चलेंगे। मोदी जी ने कहा था कि खेत से बाजार तक एक चेन बनायेंगे, जो कि किसानों की प्रगति का मार्ग सरल करेगा। अब यह कार्य किया जा रहा।

नाम में होता है भाव: उन्होंने कहा कि नाम में भाव होता है। हमारे पूर्वजों ने इसी आधार पर नाम रखे। सुबह हो तो राम राम, जीवन यात्रा खत्म हो तो राम। विपक्ष को इस बात से परेशानी हो रही है कि अयोध्या में राम मंदिर बन रहा है। दूसरी परेशानी उसे इस बात से है कि कश्मीर से धारा 370 क्यों हटा दी। श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने इसके विरोध में आवाज उठाई और बलिदान दे दिया। उन्होंने इस दौरान जय श्री राम और भारत माता के नारे भी लगे। उन्होंने कहा कि मैं एक मुस्लिम धर्म गुरु का बयान पढ़ रहा था। जिसमे वो 370 हटाने का समर्थन करते हुए मुख्य धारा से कश्मीर को जोड़ने को सही बता रहे थे। कोरोना के काल खंड में भारत के प्रदर्शन की सराहना दुनिया कर रही है। दुनिया ने भारत के प्रबंधन को कोरोना काल में स्वीकार किया है लेकिन इसमें भी विपक्ष को परेशानी है। अब किसानों की जमीन को कब्जाने की हिम्मत किसी में नहीं है। जिन्हें किसानों की खुशहाली अच्छी नहीं लग रही है। वही भ्रम फैलाने का काम कर रहे हैं। आज उसी भ्रम को दूर करने आया हूं। 

36 करोड़ की कर्जमाफी : सरकार बनते ही हमने किसानों का 36 हज़ार करोड़ की कर्ज माफी की।  उसके बाद किसानों की उपज के क्रय के लिए व्यवस्था की गई। किसानों को कहीं पर भटकना न पड़े। इसलिए 36 लाख मीट्रिक टन धान खरीदा जा चुका है। यहाँ चीनी मिल बंद हो रही थी लेकिन हमारी सरकार ने 1 लाख 12 हज़ार करोड़ का किसान का गन्ना भुगतान किया।जिससे मिल भी चलें और किसान भी समृद्ध हो। गन्ना किसानों का भविष्य उज़्ज़वल है। विकास के कार्य, गुमराह करने वालों को बुरा लग रहे हैं। विपक्ष के पास कोई मुद्दा नहीं बचा है इसलिए वह एक झूठ को बार बार बोल रहा है।सरकार सूदखोरी पर लगाम लगा रही, विपक्ष को यह भी बुरा लग रहा।

चार लाख नौजवानों को मिलेगी नौकरी: उन्होंने कहा कि जब तक चार साल पूरे होंगे तब तक चार लाख नौजवानों को नौकरी मिल चुकी होगी। उन्होंने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि पहले की सरकारों में नौकरी की वैकेंसी निकलती थी तो चंद परिवार झोला लेकर निकल जाते थे। अब ऐसा नहीं होता है।  उन्होंने कहा कि यूपी में जल्द फिल्म सिटी आ रही है। इसलिए काम करने के लिए तैयार हो जाइए। फिल्म सिटी भी युवाओं को मौके देगी। उन्होंने कहा कि बरेली का एयरपोर्ट जल्द शुरु होगा।  

975 करोड़ की परियोजनाओं के लोकार्पण की दी बधाई: उन्होंने कहा कि  विकास की योजनाएं प्रगति का मानक हैं। यहां 975 करोड़ की परियोजनाओं के लोकार्पण व शिलान्यास पर बरेलीवासियों को शुभकामनाएं देता हूं।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कार्यक्रम स्थल पर 12 बजकर 20 मिनट पर पहुंचे थे। वह 11 बजकर 55 मिनट पर लखनऊ से कार्यक्रम स्थल के लिए रवाना हुआ थे। उनके पहले भाजपा के दूसरे नेताओं ने भी किसानों को संबोधित किया। 

विधान परिषद में जीत योगी के प्रति लोगों के विश्वास को है दर्शाती: वित्तमंत्री सुरेश खन्ना ने किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि  विधान परिषद के चुनाव में हुई जीत योगी के प्रति लोगों के विश्वास को दिखाती है। सीएम योगी ने 86 लाख किसानों का कर्ज माफ किया। दूसरे प्रदेशों ने कहा तो लेकिन कर नहीं पाए। किसानों के सम्मान के लिए उन्होंने हर कदम उठाया। कृषि यंत्रों पर सब्सिडी दी और किसानों के क्रेडिट कार्ड भी बनवाए। 22 हजार 322 करोड़ रुपये अब तक यूपी में किसानों को किसान सम्मान निधि के जरिए मिल चुके हैं। गन्ना किसानों के लिए एसएमएस के जरिए पर्ची भेजी जा रही हैं।

2014 के बाद किसानों का हुआ हित : केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार ने किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि 2014 के बाद किसानों का हित हुआ है। सरकार ने जो पैसे किसानों के लिए जारी किए। वो पैसा किसानों के खाते में पूरा का पूरा जा रहा है। अब जब सरकार किसानों की बेहतरी के लिए कृषि कानून लेकर आई है तो कुछ लोग गुमराह कर रहे हैं।