बरेली, जेएनएन : एक ओर साक्षी मिश्रा के दूसरी जाति के युवक के शादी का मामला गर्म है, दूसरी ओर एक नया प्रकरण सामने आया। धर्म की दीवारें तोड़कर बरेली में रहने वाले प्रेमी युगल एक दूसरे से प्यार करने लगे थे। शादी करने की अस में प्रयागराज के लिए रवाना हो गए। टैक्सी में बैठकर दोनों आपसी बातें कर रहे थे, जिन्हें चालक ने सुन लिया। पता चाल गया कि वे अलग धर्म के हैं और परिवार वालों से चोरी-छिपे जा रहे हैं। चालक ने इसकी जानकारी एक ढाबा संचालक को दी और पुलिस बुला ली। 

महानगर में रहने वाला युवक व युवती अलग समुदाय के हैं। दोनों के बीच प्रेम संबंध हुए, लड़के ने युवती का धर्म स्वीकार करते हुए शादी की बात कही। दाेनों तैयार हुए और बुधवार की सुबह एक टैक्सी किराये पर लेकर प्रयागराज के लिए चल दिए। रास्ते में दोनों अपने बारे में बात करते जा रहे थे। टैक्सी चालक ने सुना कि वे अलग समुदाय के हैं और घर वालों से चोरी छिपे जा रहे थे तो उसका माथा ठनका। तब तक टैक्सी फरीदपुर पहुंच चुकी थी। 

चालक ने ढाबा संचालक को सुनाई कहानी तो आई पुलिस 

बाईपास से होते हुए टैक्सी चालक एक ढाबे पर रुक गया। चाय पीने के बहाने एक ढाबा पर कार रोकी और संचालक के पास पहुंच गया। उसे बताया कि ये दोनों शादी करने प्रयागराज हाईकोर्ट जा रहे हैं। ढाबा संचालक को यह भी बताया गया कि लड़की उसी के समुदाय से जुड़ी हुई है। इस पर संचालक ने चुपचाप फरीदपुर पुलिस को फोन कर दिया। कुछ ही देर बाद पुलिस ढाबा पर पहुंच गई और प्रेमी युगल को थाने ले आई।  

प्यार की खातिर बदल लिया धर्म
कोतवाली में बातचीत में युवक ने बताया कि तीन साल से प्रेम प्रसंग चल रहा था। दो साल से मैंने युवती के धर्म को मानना शुरू कर दिया है। युवती ने भी बताया कि प्रेमी ने अपना धर्म बदल लिया है। इसके बाद युवती के परिजनों को फोन कर बुला लिया गया। मां जब सामने आई तो युवती शादी करने की बात से मुकरने लगी। बाद में परिजनों के साथ चली गई। देर शाम युवक को भी हिदायत देकर छोड़ दिया गया। इस संबंध में प्रभारी निरीक्षक धनंजय सिंह से संपर्क किया गया लेकिन बात नहीं हो सकी।

 

Posted By: Abhishek Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस