बरेली, जेएनएन।Bird Flu Effect in Bareilly : भारतीय पशु चिकित्सा अनुसंधान संस्थान (आइवीआरआइ) में अब कोरोना जांच नहीं होगी। जिले के आरटी-पीसीआर सैंपल जांच के लिए लखनऊ के प्रमुख सरकारी अस्पतालों में बनी बीएसएल-3 लैब में भेजे जाएंगे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश के बाद यह फैसला लिया गया है।

कोरोना संक्रमण के केस सामने आने पर आइवीआरआइ में मंडल स्तर पर कोविड की जांच शुरू हुई थी। इसके लिए आइवीआरआइ में विशेष रूप से बीएसएल-3 लैब बनाई गई थी। लैब में फिलहाल जिले के 700-800 के करीब आरटी-पीसीआर टेस्ट के सैंपल भेजे जाते थे। पहीं, जिला अस्पताल में बनी बीएसएल-2 लैब करीब 100 टेस्ट की जांच होती। चूंकि आइवीआरआइ में शनिवार से कोविड जांच बंद कर दी जाएगी। ऐसे में जिले में होने वाली आरटी-पीसीआर सैंपल जांच के लिए किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू) और संजय गांधी परास्नातक मेडिकल कॉलेज (एसजीपीजीआइ) भेजे जाएंगे।

शुक्रवार को भेजे गए हैं जांच सैंपल

सीएम की वीडियो कॉन्फ्रेंस भले ही दोपहर एक बजे हुई हो, लेकिन जिले में स्वास्थ्य महकमे के अधिकारियों को आदेश की जानकारी नहीं हो सकी थी। वहीं, मुख्यालय या शासन की ओर से स्वास्थ्य विभाग के पास कोई लिखित आदेश भी नहीं आए। ऐसे में जिले में शुक्रवार को लिए आरटी-पीसीआर टेस्ट के सैंपल जांच के लिए आइवीआरआइ भेजे गए।

... तो अब लेट मिलेगी रिपोर्ट

आइवीआरआइ में केवल जिले के आरटी-पीसीआर सैंपल टेस्ट के लिए पहुंचते थे। लेकिन केजीएमयू और एसजीपीजीआइ के पास ज्यादा सैंपल टेस्ट के लिए होंगे। विभागीय अधिकारी मानते हैैं कि ऐसे में सीमित लैब क्षमता की वजह से जिले के कोरोना टेस्ट की रिपोर्ट आने में ज्यादा समय लगना संभव है।

 शुक्रवार को आइवीआरआइ में कोविड जांच बंद कराने के आदेश मिल गए हैंं। अब जिला अस्पताल की क्षमता के अलावा बचे आरटी-पीसीआर सैंपल जांच के लिए लखनऊ में केजीएमयू और एसजीपीजीआइ भेजे जाएंगे।- नितीश कुमार, जिलाधिकारी

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021