बरेली, जेएनएन। Bareilly Smugglers Property : तस्कर शहीद खां उर्फ छोटे व उसके कुबने एवं तैमूर उर्फ भोला की संपत्ति पर अब सरकार का कब्जा होगा। तस्कर की 65 करोड़ की संपत्ति पर सरकार कब्जा लेगी। संपत्ति फ्रीज के लिए दोनों तस्करों की सक्षम अधिकारी को एसएसपी द्वारा भेजी गई रिपोर्ट पर अधिकारियों ने मुहर लगाकर नोटिस जारी कर दिया। गुरुवार को पुलिस ने नोटिस घरों पर चस्पा कराने के साथ तामील भी करा दिया। अब 30 दिन के भीतर तस्करों को नोटिस का जवाब देते हुए आय का जरिया बताना होगा। आय का जरिया न बता पाने पर पूरी संपत्ति सरकार के अधीन हो जाएगी।

18 अगस्त को तस्कर पढेरा का तस्कर शहीद खां उर्फ छोटे भतीजे सैफ उर्फ राजू संग स्मैक की बड़ी खेप के साथ पकड़ा गया था। दोनों के पकड़े जाने के बाद पुलिस ने उसके कुनबे के नौ लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया। विवेचना में तस्कर की दोनों पत्नियों, भाभी, भाई, बेटे समेत कुनबे के 25 तस्करों के नाम मुकदमे में शामिल किये गए। संपत्ति की जांच शुरू कर दी गई। इधर, इसी बीच ढाई लाख का ईनामी तस्कर तैमूर उर्फ भोला ने दिल्ली की कोर्ट में सरेंडर कर दिया। कुनबे की संपत्ति जांच में शहीद खां उर्फ छोटे की 51.65 करोड़ रुपये की संपत्ति सामने आई।

इसमें सिर्फ तस्कर की बैट्री फैक्ट्री में मेराज व एक जमीन में वांछित फैयाज पार्टनर है। बाकी सारी संपत्ति तस्कर ने खुद के नाम के साथ बीबी, बच्चों व रिश्तदारों के नाम खरीदी। इधर, तैमूर उर्फ भोला की 13.5 करोड़ की संपत्ति सामने आई। दोनों की मिलाकर 63.15 करोड़ रुपये की संपत्ति सामने आई। गैंगस्टर की कार्रवई के तहत तैमूर की संपत्ति फ्रीज के लिए डीएम को रिपोर्ट भेजी गई जबकि शहीद खां उर्फ छोटे की संपत्ति फ्रीज के लिए सक्षम अधिकारी सफेमा को रिपोर्ट भेजी गई जिस पर नोटिस जारी कर दिया गया। गुरुवार को पुलिस ने नोटिस भी तामील करा दिया।

ढहाई जा चुकी है तस्कर की बैट्री फैक्ट्री

तस्कर शहरी खां उर्फ छोटे ने अवैध रूप से बैट्री फैक्ट्री खड़ी की थी। जिस पर जवाब के लिए नोटिस जारी किया गया। बावजूद कोई जवाब न आने पर तस्कर की बैट्री फैक्ट्री ढहा दी गई थी।

बरेली पुलिस की कार्रवाई प्रदेश में बनेगी नजीर

अधिकारियों की मानें तो यह पहली बार होगा जब एनडीपीएस एक्ट में तस्करों की संपत्ति फ्रीज करने की कार्रवाई हो रही है। उत्तराखंड पुलिस बरेली पुलिस की इस कार्रवाई को नजीर मान चुकी है। बीते दिनों उत्तराखंड पुलिस ने भी बरेली पुलिस की तर्ज पर तस्करों के खिलाफ शिकंज की बात कही थी। बरहाल, बरेली पुलिस की यह कार्रवाई प्रदेश की पुलिस के लिए नजीर मानी जा रही है।

सक्षम अधिकारियों की ओर से नोटिस जारी कर दिये हैं जिसे पुलिस ने तामील करा दिया है। तस्करों के खिलाफ कार्रवाई जारी रहेगी। अन्य तस्करों की भी संपत्ति की जांच चल रही हैं। दोनों की तर्ज पर अन्य के खिलाफ भी कार्रवाई कराई जाएगी। - राजकुमार अग्रवाल, एसपी देहात

Edited By: Ravi Mishra