बरेली, जेएनएन। : लॉकडाउन के बावजूद मुख्य बाजारों में सुबह के वक्त जाम जैसी स्थिति संदेश दे रही है कि लापरवाही कही भारी न पड़े। पुलिस अधिकांश बाजारों में तैनात दिखती नहीं है। चेकिंग अगर कही होने लगे तो लोग हाथ में पकड़ा झोला या दवा का मेडिकल का कोई पुराना पर्चा दिखा देते हैं। सोमवार को बदायूं रोड, किला रोड, श्यामगंज और कुतुबखाना पर जाम जैसे हालात दिखे। जबकि लॉकडाउन में तो सीमित संख्या में ही लोगों को बाजार में होना चाहिए। 11 बजे पुलिस ने बाजार में आवश्यक वस्तुओं की दुकानों को बंद कराने की शुरुआत की, लेकिन दोपहर दो बजे तक लोगों की आवाजाही सामान्य दिनों की तरह ही रही।

सीन एक : बदायूं रोड

बदायूं ओवरब्रिज से लेकर चौरासी घंटा मंदिर तक पूरा बाजार खुला रहा। कार, स्कूटी पर लोगों की सामान्य आवाजाही रही। पुलिस कही भी तैनात नहीं दिखी। फुटपाथ पर ठेले और पटरी दुकानें भी लगी। लोगों के मुंह पर मास्क लगे हुए थे। लेकिन दुकानों पर शारीरिक दूरी का ख्याल नहीं रखा गया।

सीन दो : किला रोड

संकरी सड़क का व्यस्त बाजार। सुबह दस बजे तक यहां लोग दुकानों पर जमे हुए थे। इसी रोड पर आगे किला थाना है। लेकिन काेई चेकिंग नहीं की जा रही थी। कपड़ा और सराफा बाजार को छोड़कर बाकी दुकानें खोली गई थी। लोग भी जमकर खरीदारी कर रहे थे। ऐसा दृश्य यहां रोज सुबह बन रहा है।

सीन तीन : कुतुबखाना चौराहा

सामान्य दिनों में व्यस्त रहने वाला चौराहा लॉकडाउन में भी गाड़ियों के फंसने से जाम की स्थिति में नजर आया। करीब ही कुतुबखाना चौकी है। पुलिस भी चौराहा पर मौजूद थी। लेकिन मूक दर्शक बनी। कुछ लोगों को रोका भी जा रहा था। लेकिन वह लोग अपने वाजिब कारण बताकर निकल जाते थे।

माल गोदाम रोड बंद की

मास्क बिना लगाए घर से निकलने वाले 18 लोगों के चालान पुलिस ने सोमवार को किए। जबकि एमवी एक्ट में 46 लोगों के चालान किए गए। पुलिस ने जंक्शन से चौपुला के लिए आने वाली मालगोदाम रोड को भी बंद करवाया है। चौकी चौराहा, डीडीपुरम सलेक्शन प्वांइट, डेलापीर, पटेल चौक समेत कई बाजारों की सड़क अब वन-वे कर दी गई है।

पुलिस चेकिंग के निर्देश जारी किए जा चुके है। लोगों को अपनी जिम्मेदारी का एहसास होना चाहिए। मास्क के बिना निकलने वालों के चालान किए जा रहे है। - दिलीप कुमार, सीओ सिटी 

Edited By: Ravi Mishra