बरेली, जेएनएन। Bareilly Conversion News : अतिक्रमण विरोधी अभियान से नाराज ग्रामीणों को ईसाई बनाने की बड़ी साजिश रच दी गई। उन्हें प्रलोभन दिया गया कि मतांतरण कर लें तो प्रत्येक को मकान और पांच लाख रुपये दिए जाएंगे। प्रार्थना सभा की आड़ में प्रचारक उन्हें प्रलोभन दे रहा था, इतने में हिंदूवादी नेता पहुंच गए। पुलिस बुलाकर प्रचारक को पकड़वा दिया। उसके पीछे काैन सी ईसाई मिशनरी काम कर रही, इसकी जांच की जा रही।

शहर से सटे चंदपुर बिचपुरी गांव में बरेली विकास प्राधिकरण आवास योजना का विस्तार कर रहा है। इसके लिए भूमि से अतिक्रमण हटाया जा रहा। दो बार अभियान चलाकर कई पक्के मकान गिटाए जा चुके हैं। इन लोगों को बसने के लिए प्राधिकरण उसी आवासीय योजना में बिना ब्याज के किस्तों पर प्लाट भी उपलब्ध कराने की योजना बना चुका है। इसके बावजूद ग्रामीण इस अभियान से नाराज हैं, टीम पर पथराव कर चुके।

ईसाई मिशनरी ने इसी का लाभ उठाने का प्रयास किया। हिंदूवादी नेता हिमांशु पटेल ने बताया कि रविवार सुबह को कुछ ग्रामीणों ने पता चला कि गांव में एक घर में ईसाई प्रचारक अभिषेक प्रार्थना सभा के नाम पर करीब 40 लोगों को एकत्र कर प्रलोभन दे रहा। उनका मतांतरण का प्रयास किया जा रहा। वह पहले भी कई बार ऐसे आयोजन कर चुका। वह विश्व हिंदू परिषद के कई कार्यकर्ताओं के साथ वहां पहुंच गए। हंगामा होने लगा तो सीओ श्वेता यादव को बुला लिया।

पुलिस देखकर ग्रामीण वहां से भाग गए, जबकि अभिषेक को पकड़ लिया गया। उसके पास से बाइबिल की कई पुस्तकें व ईसाई प्रचार से जुड़ी काफी सामग्री मिली। उसका कहना था कि ग्रामीणों की इच्छा पर प्रार्थना सभा करने आया था। ग्रामीणों ने बताया कि वह सभा के दौरान विशेष तरह का पानी देकर कहता था कि इससे बीमार लोग ठीक हो जाते हैं। कुछ मजदूर परिवार उसके झांसे में आ गए थे।

हिंदूवादी नेता ने पकड़वाया

अभिषेक को पकड़कर थाने बैठा दिया गया है। हिंदूवादी नेताओं ने तहरीर दी है कि वह मतांतरण का प्रयास कर रहा था। प्रकरण की जांच की जा रही, इसके बाद कार्रवाई होगी। मौके पर बाइबिल व प्रचार सामग्री मिली है। उसका गांव में लगातार आना संदेह जता रहा है। श्वेता यादव, सीओ 

Edited By: Ravi Mishra