जासं, बरेली: 23 जुलाई को टोक्यो ओलिपिक का शुभारंभ हो रहा है। इसके काउंटडाउन ने बरेली के लोगों की धड़कनें बढ़ा दी हैं। खेलों के महाकुंभ में जलवा बिखेरने के लिए 126 सदस्यीय भारतीय दल पहले ही टोक्यो पहुंच चुका है। शहर के लोगों का उत्साह इसलिए भी आसमान छू रहा है, क्योंकि पहली बार भारत 18 खेलों की 69 प्रतिस्पर्धाओं में हिस्सा लेने जा रहा है। खिलाड़ियों से लोगों को बड़ी उम्मीदें हैं। इस बार मंडल के दो खिलाड़ी भी भारतीय दल में शामिल हैं। इसको लेकर यहां के लोग काफी उत्साहित हैं।

----

रिमझिम बारिश के बीच दिखा उत्साह का ज्वार

जासं, बरेली: रिमझिम बारिश के बीच गुरुवार सुबह शहर के लोग गांधी उद्यान में एकत्र हुए। आयोजन भले ही टोक्यो में हो रहा हो, लेकिन यहां सबके चेहरे पर खुशी झलक रही थी। दिल्ली पब्लिक स्कूल के प्रिसिपल वीके मिश्रा ने भारतीय टीम के खिलाड़ियों को शुभकामनाएं देते हुए 'सेल्फी चीयर फार इंडिया' कार्यक्रम की शुरुआत की।

ओलिंपियन सुमंगला शर्मा ने अपना शुभ संदेश दिया। यूपी के फुटबाल एसोसिएशन के सचिव मून राबिसन, अंतरराष्ट्रीय शूटर कमल सेन, डा. प्रमेंद्र माहेश्वरी, नईम अहमद, मंडलीय खेल प्रभारी आरके बाजपेई, मोनिका गौतम समेत युवा वर्ग गांधी उद्यान पहुंचे। यहां मौजूद लोगों ने जोश के साथ ओलिपिक में भारतीय खिलाड़ियों के सोना जीतने की कामना की। यहां समन्वय, वैशाली पाठक, आभा भारद्वाज, विमल मिश्रा, सर्वेश यादव आदि मौजूद रहे।

----

बरेली से शुरू होकर 51 जिलों का सफर करेगी ओलिंपिक रिले

आज से होगी शुरुआत, 3,625 किमी का सफर पूरा करके लखनऊ में होगा समापन

जासं, बरेली: टोक्यो ओलिपिक में खिलाड़ियों का मनोबल बढ़ाने के लिए लोगों को जागरूक किया जा रहा है। इसके लिए प्रदेश स्तरीय टोक्यो ओलिपिक जागरूकता रिले का आयोजन होने जा रहा है। शुक्रवार को बरेली के स्टेडियम से इसकी शुरुआत होगी। यहां से शुरू होकर 51 जिलों से होते हुए कुल 3,625 किमी का सफर पूरा कर रिले लखनऊ पहुंचेगी। खेल जगत फाउंडेशन उप्र की ओर से आयोजित किए जा रहे इस रिले का उद्देश्य देश और प्रदेश के खिलाड़ियों का मनोबल बढ़ाने के लिए प्रदेश के लोगों को जागरूक करना है।

-----

इस बार ओलिपिक में हमारा देश लगभग सभी खेलों में प्रतिभाग कर रहा है। इस बार हमारे खिलाड़ी ज्यादा पदक लाएंगे। हम सभी को किसी न किसी माध्यम से जुड़कर खिलाड़ियों का मनोबल बढ़ाना चाहिए। लोगों की उम्मीदें इस आयोजन से लगी हुई हैं।

- सुमंगला शर्मा, पूर्व ओलिपिक तीरंदाज

इस बार भारत के 119 खिलाड़ी ओलिपिक में प्रतिभाग कर रहे हैं। इसमें 67 पुरुष और 52 महिला खिलाड़ी हैं। सभी खिलाड़ियों ने खूब मेहनत की है। इस बार ओलिपिक में सबसे ज्यादा पदक भारत के खिलाड़ी लेकर आएंगे।

- गीता शर्मा, पूर्व राष्ट्रीय हाकी खिलाड़ी

----

टोक्यो में सोना जीतने पहुंची प्रियंका

जासं, बरेली: रेलवे की एथलीट प्रियंका गोस्वामी ने राष्ट्रीय कीर्तिमान अपने नाम कर टोक्यो ओलिंपिक का टिकट भी हासिल किया। एथलेटिक्स में सोने की चाहत के साथ प्रियंका जापान की राजधानी टोक्यो में भारत का सिर गर्व से ऊंचा करने को तैयार हैं। रेलवे की हाकी टीम की कोच व क्रीड़ा सचिव गीता शर्मा ने बताया कि बरेली में नौकरी के दौरान ही उन्होंने अंतरराष्ट्रीय वाक चैंपियनशिप रांची में 13 फरवरी 2021 को स्वर्ण पदक हासिल कर नया राष्ट्रीय कीर्तिमान स्थापित किया।

प्रियंका मुजफ्फरनगर के बुढ़ाना क्षेत्र के सागड़ी गांव की रहने वाली हैं। उनके पिता रोडवेज में परिचालक थे। 2006 में वह मेरठ रहने लगे। 2010 में पिता की नौकरी जाने के बाद उन्होंने किराए पर टैक्सी चलाई। किराना स्टोर भी खोला। वहीं पारिवारिक स्थितियों से जूझती प्रियंका ने 2011 में पहला पदक हासिल करने के बाद पीछे मुड़कर नहीं देखा। पटियाला में 2014-15 में ग्रेजुएशन करने के बाद बेंगलुरु साईं सेंटर में चयन के बाद उसे निशुल्क प्रशिक्षण मिलना शुरू हुआ। 2018 में खेल कोटे से रेलवे में लिपिक की नौकरी मिल गई।

----

ओलिंपिक तक पहुंचने वाले बरेली मंडल के पहले हाकी खिलाड़ी हैं सिमरनजीत

जासं, बरेली: ओलिपिक में खेलने वाली हाकी टीम में चयनित पीलीभीत के मझोला क्षेत्र के रहने वाले हाकी खिलाड़ी सिमरनजीत सिंह टोक्यो में पसीना बहा रहे हैं। क्षण गौरवांवित करने वाला है, क्योंकि वह बरेली मंडल के पहले हाकी खिलाड़ी होंगे, जो भारत की ओर से ओलिपिक खेलेंगे।

18 जून को टीम-16 की घोषणा होने पर निराशा हुई थी, क्योंकि सिमरनजीत का नाम लिस्ट में नहीं था। बाद में नए नियम का फायदा मिला। ओलिपिक के लिए 16 खिलाड़ियों की नहीं बल्कि 18 खिलाड़ियों की टीम में सिमरनजीत सिंह और वरुण कुमार का नाम शामिल किया गया। इस तरह से इतिहास का नया अध्याय लिखा गया। उन्हें खेलता हुआ देखने के लिए बरेली मंडल के लोग आतुर हैं। सिमरनजीत ने जीत कर ही लौटने का वादा किया है।

Edited By: Jagran