जेएनएन, बरेली। बदायूं जिले के इस्लामनगर थाना क्षेत्र में अज्ञात वाहन से कुचलकर बाइक सवार बैंक कैशियर की मौके पर ही मौत हो गई। शनिवार सुबह लोगों ने उनका शव सड़क किनारे पड़ा देखा तो वह हैरत में पड़ गए। काफी देर तक शिनाख्त के प्रयास हुए इसके बाद पहचान होने पर उनके परिजनों को सूचना दी गई। सूचना मिलते ही रोते-बिलखते परिजन उत्तराखंड से मौके पर पहुंच गए।

मूलरूप से जौनपुर जिले के गाव कंधरपुर के रहने वाले 30 वर्षीय अमित पुत्र ज्ञानचंद्र ने दो महीने पहले ही इस्लामनगर थाना क्षेत्र के गाव खितौरा की सर्व यूपी ग्रामीण बैंक में बतौर कैशियर के नौकरी ज्वाइन की थी। कैशियर के पिता ज्ञानचंद्र बीएसएनएल में कार्यरत थे तो उन्होंने सेवानिवृत होने के बाद उत्तराखंड में ही घर बना लिया था। अमित खितौरा में ही रहकर नौकरी कर रहे थे। शनिवार और रविवार को बैंक में छ़ुट्टी होने पर कैशियर अपने परिवार से मिलने उत्तराखंड जाने वाले थे। शुक्रवार देर रात खाना खाने के बाद वह अपने घर को निकले तो उन्होंने चंदौसी रेलवे स्टेशन पर बाइक खड़ी कर ट्रेन से वहा जाने की बात कही थी। रात में वह बर्रई गाव के पास बने पुल के पास पहुंचे ही थे कि अज्ञात वाहन ने उनको रौंद दिया। हादसे में उनकी मौके पर ही मौत हो गई। शव काफी दूर तक वाहन के साथ घिसटता हुआ चला गया। एसएसचओ इस्लामनगर राम नरेश माथुर का कहना है कि प्रथम दृष्टया मामला सड़क हादसे का ही है। वाहन की तलाश की जा रही है, जल्द ही चालक को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

By Jagran