बरेली, जेएनएन। Badaun Gang Misdeed Murder Case : सामूहिक दुष्कर्म व हत्या का मुख्य आरोपित सत्यनारायण वारदात के बाद गांव में ही छिप गया था। सोमवार के बाद से गांव छावनी बना हुआ था, इसके बावजूद शातिर ने सोमवार दोपहर से गुरुवार दोपहर तक भनक नहीं लगने दी। जिस चेले के घर में छिपा था, उसी के जरिये पुलिस की गतिविधियों के बारे में जानकारी लेता था।

गुरुवार को पुलिस को एक ग्रामीण के जरिये भनक लगी, जिसके बाद दोपहर से ही उस चेले के घर के आसपास पुलिस निगरानी करने लगी। इस बीच दोपहर को कुछ देर के लिए उसका फोन नंबर ऑन हुआ। सर्विलांस टीम को इसके जरिये लोकेशन पता चल गई। रात को पुष्टि होने पर 11 बजे दबिश की तैयारी होने लगी। इस बीच कुछ ग्रामीणों ने भी उसे चेले के घर में देख लिया था। जानकारी देर शाम तक कई लोगों के पास पहुंच गई। पुलिस ने उनसे भी मदद ली।

रात में कई ग्रामीण उसके घर में घुस गए और आरोपित को पकड़ लिया। इस बीच पुलिस टीम भी वहां पहुंच गई। गिरफ्तारी के बाद सत्यनारायण खुद को बेकसूर बताता रहा। उससे पूछताछ चल रही है। सत्यनारायण की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने उसके कई स्वजन व परिचित को थाने में बैठा लिया। उनकी जानकारी के आधार पर हरिद्वार, कासगंज व बरेली, चंदौसी में दबिश दी जाती रहीं। शातिर सत्यनारायण सोमवार दोपहर से फोन बंद कर लिया था। इससे पहले वह मंदिर में ही था। आखिर पुलिस के जाल में फंस ही गया।

 

Edited By: Ravi Mishra