बरेली, जेएनएन।  तीन कृषि कानून को रद्द करने की मांग कर रहे किसानों ने 26 जनवरी को दिल्ली में ट्रैक्टर परेड करने का ऐलान किया है। किसानों को इसके लिए अनुमति भी मिल चुकी है।ऐसे में दिल्ली पुलिस के साथ जो दिल्ली से जुड़े जिले हैं। वहां की पुलिस के लिए भी गणतंत्र दिवस पर कानून व्यवस्था को दुरुस्त रखना बड़ी चुनौती है। दरअसल पिछले दिनों जब दिल्ली में किसान आंदोलन चल रहा था। तब बरेली से भी बड़ी संख्या में किसानों ने दिल्ली की तरफ कूच किया था। ऐसे में कई जगह पर पुलिस ने किसानों को रोका था तो कुछ ऐसे भी किसान थे जो पुलिस को चकमा देकर दिल्ली में किसान आंदोलन में भाग लेने के लिए पहुंच गए थे। अब जब किसान गणतंत्र दिवस के मौके पर दिल्ली में ट्रैक्टर परेड करने जा रहे हैं। ऐसे में पुलिस को भी एहतियात बरतने के निर्देश दिए गए हैं जिससे किसी तरह से कानून व्यवस्था न बिगड़े। बीते दिनों कृषि कानून के विरोध में दिल्ली जा रहे किसानों को जब मुरादाबाद के मूंढापांडे टोल प्लाजा के पास रोका गया था तो किसानों ने उग्र प्रदर्शन किया था। इस पर किसानों ने हाइवे भी जाम कर दिया था। इतना ही नहीं पुलिस से किसानों की झड़प भी हुई थी। इसमें कुछ पुलिस कर्मियों को चोट भी पहुंची थी। अब जब ट्रैक्टर परेड का किसानों ने ऐलान किया है। ऐसे में पुलिस को अंदेशा है कि जिले से भी किसान दिल्ली की तरफ कूच कर सकते हैं। ऐसे में पुलिस चौकसी बरत रही है। किसान केंद्र सरकार की तरफ से लागू किए गए तीन कृषि कानून को रद्द करने की मांग कर रहे हैं जबकि सरकार का कहना है कि किसान जिन बातों को लेकर अंदेशा जता रही है। वह कृषि कानून में लागू नहीं होंगे बल्कि कानून किसानों के हित में हैं। इससे किसानों को उनकी उपज का सही दाम मिलेगा।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021