जागरण संवाददाता, बरेली: फरियादियों की शिकायतों का 24 घंटे में निस्तारण हो। थाना दिवस पर पहुंचा फरियादी दोबारा थाने के चक्कर लगाने को मजबूर न हो। इसके लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अफसरों की जवाबदेही तय की। शनिवार को आयोजित थाना दिवस में एडीजी अविनाश चंद्र हकीकत से रूबरू होने खुद थाना दिवस में पहुंचे। इज्जतनगर व भोजीपुरा में उन्होंने फरियाद सुनकर थाना प्रभारियों को टीम गठित कर समस्या के त्वरित समाधान के निर्देश दिए। अब एडीजी फीडबैक लेने के लिए खुद फरियादियों से सीधे बात करेंगे। लापरवाही पाये जाने पर संबंधित थाने प्रभारियों पर कार्रवाई की गाज भी गिर सकती है।

थाना दिवस पर एडीजी ने इज्जतनगर में दस व भोजीपुरा में नौ शिकायतें सुनी। इन सभी शिकायतों में ज्यादातर भूमि संबंधी विवाद थे। फरियादियों ने एडीजी से यह भी कहा कि थाने में कई बार शिकायत की लेकिन, कोई समाधान न निकला। इस पर एडीजी ने आश्वस्त किया कि इस बार जरूर समाधान होगा। उन्होंने तत्काल थाना प्रभारियों को टीम गठित कर शिकायत के निस्तारण का आदेश किया। यह भी कहा कि किसी भी सूरत में लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। एडीजी के आश्वसन से फरियादी भी निश्चित दिखे। उन्होंने कोरोना गाइडलाइन का कड़ाई से पालन के निर्देश दिए।

थाने में अधूरे मिले हत्या व बलवा रोकथाम रजिस्टर

डीजीपी मुकुल गोयल ने निरीक्षण में पाया कि थानों में बने हत्या व बलवा के रजिस्टर पर थाना प्रभारियों का कोई ध्यान नहीं है। रजिस्टर आधे-अधूरे पड़े हैं। एडीजी अविनाश चंद्र को निरीक्षण में भी कमोबेश वही तस्वीर मिली। इज्जतनगर व भोजीपुरा थाने में बने हत्या व बलवा रोकथाम रजिस्टर एडीजी को अधूरा मिला। उन्होंने थाना प्रभारियों से रजिस्टर अपडेट करने की हिदायत दी।

वर्जन

फरियादियों की शिकायत का निस्तारण हुआ या नहीं, इसका खुद फीडबैक लिया जाएगा। निस्तारण न करने पर संबंधित थानेदारों की जवाबदेही तय की जाएगी। निरीक्षण में हत्या व बलवा रोकथाम रजिस्टर अधूरा मिला। थाना प्रभारियों से रजिस्टर अपडेट रखने के निर्देश दिए हैं।

- अविनाश चंद्र, एडीजी, बरेली जोन

-------------

डीएम व एसएसपी ने जिला जेल का किया निरीक्षण

जासं, बरेली: जिलाधिकारी नितीश कुमार व एसएसपी रोहित सिंह सजवाण ने शनिवार को जिला जेल का निरीक्षण किया। निरीक्षण में डीएम ने जिला जेल अधीक्षक को कोरोना महामारी से बचाव के इंतजाम बेहतर रखने के निर्देश दिये। कहा कि किसी भी दशा में लापरवाही न बरती जाए। कोरोना गाइडलाइन का सख्ती से पालन कराया जाए।

Edited By: Jagran