बरेली, जेएनएन। उत्तर प्रदेश में मुरादाबाद के बाद बरेली में स्वास्थ्य विभाग की टीम पर हमला करने का मामला सामने आया है। फरीदपुर के ऊंचा मुहल्ले में विभाग की ओर से बाहर से आए प्रवासी और संदिग्ध लोगों के बारे में सर्वे करने पहुंची एएनएम पर 20 से 25 लोगों हमला बोल दिया। इस दौरान उनका मोबाइल छीन लिया। जिस रजिस्टर में वह जानकारी जुटा रही थी, उसे भी फाड़ने का प्रयास किया। वहां से किसी तरह अपनी जान बचाकर भागी एएनएम ने अपने साथ हुई घटना की जानकारी अपने अफसरों को दी। इस मामले में पुलिस ने अपनी जानकारी जुटाना शुरू कर दिया हैं। फिलहाल अब तक कोई कार्रवाई नहीं हो सकी हैं।

फतेहगंज पूर्वी के नवीन प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर तैनात एएनएम मधु चंद्रा सर्वे के लिए महादेव व ऊंचा मुहल्‍ले में गई थी। महादेव से सर्वे करने के बाद वह ऊंचा फरीदपुर में पहुंची। एएनएम का आरोप है कि वहां रहने वाले तीन परिवार पहले तो अपना नाम और पता बताने में आनाकानी करने लगे। बहुत समझाने पर माने और नाम पता बताने पर राजी हो गए।

जैसे ही एएनएम जानकारी लेने के बाद मुहल्‍ले की गली से बाहर निकली तभी उन्‍हें मुहल्‍ले के बाहर भीड की शक्‍ल में एकत्रित हुए लोगों ने रोक लिया और उनसे पूछा कि वह किस हक से मुहल्‍ले में आई है, आई कार्ड भी मांगा। आरोप है कि आई कार्ड दिखाने के बाद लोगों ने उनके हाथ से रज‍िस्‍टर छीन लिया। इस मामले में पीडिता ने पु‍लिस को तहरीर दे दी है। 

एएनएम के मुताबिक लोगों ने उसका मोबाइल भी खीच लिया और उनसे अभद्रता करने लगे। भीड में से एक व्‍यक्‍त‍ि ने रजिस्‍टर में पेन से कुछ किया भी। जिसके बाद उन्‍होंने किसी तरह से मोबाइल व रजिस्‍टर लेकर वहां से किसी तरह से बचकर निकली। जिसके बाद एएनएम ने घटना की जानकारी उच्च अधिकारियों को दी ।

फरीदपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. वासित अली घटनास्थल पर पहुंचे और मामले में स्थानीय लोगों से जानकारी ली। इसके साथ ही मौके पर पहुंचे पुलिस अफसरों ने घटना की जानकारी लेते हुए मामले में अपनी कार्रवाई शुरू कर दी हैं।

कुछ लोगों को हिरासत में लिया

घटना अंजाम देने के संदेह में पुलिस ने कुछ लोगों को हिरासत में लिया है, जिन्हें संविदा एएनएम के सामने पेश किया गया, ताकि आरोपितों की शिनाख्त हो सके। प्रभारी निरीक्षक एवं एएसपी अभिमन्यु मांगलिक ने बताया कि मामले में तहरीर मिली है। आरोपितों को तलाश जा रहा है। मुकदमा दर्ज किया जाएगा। दुस्साहस दिखाने वालों पर कड़ी कार्रवाई होगी।

क्या बोले एसएसपी

एसएसपी शैलेश पाण्डेय ने बताया कि सरकारी कर्मचारियों के साथ अभद्रता बर्दाश्त नहीं की जाएगी। जो भी बदसलूकी करेगा उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। आशा कार्यकर्ता से अभद्रता के मामले में जांच कर दोषियों पर कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

Edited By: Abhishek Pandey