जेएनएन, बरेली। मंडल में शुक्रवार को बुखार का प्रकोप कुछ थमता नजर आया, लेकिन मौतों का सिलसिला अभी भी जारी है। पिछले 24 घंटे में बरेली, बदायूं व शाहजहांपुर में 16 लोगों की बुखार से मौत हो गई। सबसे ज्यादा मौतें बरेली में हुई। यहां छह लोगों ने बुखार की चपेट में आकर दम तोड़ दिया। वहीं बदायूं व शाहजहांपुर में पांच-पांच लोगों को बुखार निगल गया। बता दें कि रुहेलखंड में पिछले 20 दिनों में बुखार से मौतों का आंकड़ा करीब 378 तक पहुंच चुका है। इसकी गूंज शासन तक है। पिछले दिनों स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने बरेली पहुंचकर हालात का जायजा भी लिया था।

बरेली में भमोरा क्षेत्र के ग्राम डप्टा श्यामपुर में छविराम के सात वर्षीय बेटे, अलीगंज क्षेत्र के ग्राम मंडोरा में मनीराम लोधी(50), बिशारतगंज क्षेत्र के ग्राम बेहटाबुजुर्ग में मुन्ने के बेटे इम्तियाज(12), फतेहगंज पश्चिमी के मुहल्ला अहमदनगर निवासी इमरान (21) और बिथरी में रजऊ परसपुर के बाबूराम (45) बुखार से पीड़ित होकर असमय काल के गाल में समा गए। उधर, बदायूं में सबसे ज्यादा प्रभावित सालारपुर और समरेर ब्लॉक के गांव हैं। समरेर ब्लॉक गांव हसनपुर निवासी शहजाद की बेटी रिहाना(18), इसी गांव के बाबू की पत्नी नफीसा, गांव औरंगाबाद खालसा निवासी बाल किशन की बेटी पूनम(2) की बुखार से मौत हो गई। वहीं, उसहैत थाना क्षेत्र के गांव नंदेनगला निवासी पोषाकीलाल, उझानी के गांव कुआडांडा निवासी प्रेमशंकर की बेटी गायत्री(9) ने बुखार की चपेट में आकर दम तोड़ दिया।

शाहजहांपुर में खुदागंज क्षेत्र के गांव ईश्वरा निवासी ओमप्रकाश पत्नी रामकली (55), गांव चरखौला निवासी सुदेश ¨सह पत्नी प्रेमा देवी (45), मिर्जापुर क्षेत्र के गांव सिठोली निवासी रामकिशन के 18 वर्षीय बेटे और खुटार क्षेत्र के गांव नवदिया दरूदगरा निवासी राजीव शर्मा की बेटी कीर्ति (7) आदि बुखार पीड़ित की जान चली गई।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस