पीलीभीत, जेएनएन। दिल्ली के निजामुद्दीन दरगाह में आयोजित तब्लीगी जमात में शिरकत करने वालों में कोरोना वायरस संक्रमण पाए जाने के बाद सरकारी एजेंसियां हर तरह से छानबीन कर रही है। इसी सिलसिले में रेलवे मंत्रालय की ओर से डेढ़ सौ लोगों की सूची सभी राज्यों को भेजी गई है। दरअसल यह लोग विगत 18 मार्च को दिल्ली से जम्मू जा रही झेलम एक्सप्रेस में सफर कर रहे थे। इसमें से कश्मीर घाटी निवासी एक व्यक्ति में कोरोना संक्रमण पाया गया था। यह व्यक्ति जिस कोच में सफर कर रहा था, उसमें डेढ़ सौ लोग सवार थे। जिस कारण अन्य लोगों में भी कोरोना वायरस संक्रमण फैलने की आशंका जताई जा रही है। बरेली रेंज के डीआइजी राजेश कुमार पांडेय ने इस सिलसिले में चारों जिलों के पुलिस कप्तानों को छानबीन करने का निर्देश दिया है।

दिल्ली के निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन से 18 मार्च को ट्रेन संख्या 1077 झेलम एक्सप्रेस जम्मू के लिए रवाना हुई थी। ट्रेन के कोच नंबर एस-10 में सवार कश्मीर के पुलवामा जिले के राजपोरा थाना क्षेत्र के गांव खानम निवासी एक व्यक्ति में कोरोना वायरस का संक्रमण होने की पुष्टि हुई थी। वह निजामुद्दीन स्टेशन से ही कोच में सवार हुआ था। वह जिस कोच में सवार था, उसमें डेढ़ सौ अन्य लोग भी सफर कर रहे थे। ऐेसे में अन्य लोगों में भी कोरोना वायरस संक्रमण फैलने की आशंका प्रबल बनी हुई है। इस मामले की भनक लगते ही रेलवे मंत्रालय हरकत में आ गया। आनन-फानन में रेलवे ने ट्रेन के कोच संख्या एस-10 में सवार सभी एक सौ पचास लोगों के नाम पते और मोबाइल फोन नंबरों की सूची तैयार कर सभी राज्यों को भेजी है। हालांकि, सूची में शामिल लोगों में बरेली रीजन का कोई व्यक्ति नहीं है। फिर भी इस मामले की गंभीरता से छानबीन कराई जा रही है। पुलिस अधीक्षक अभिषेक दीक्षित ने इस मामले की पुष्टि करते हुए बताया कि सूची में इस रीजन के किसी व्यक्ति का नाम नहीं है, लेकिन इस दौरान जम्मू आदि जाने वाले भी उक्त लोगों के संपर्क में रह हो सकते हैं, जिसके मद्देनजर छानबीन कराई जा रही है।  

Posted By: Abhishek Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस