बाराबंकी : जिला चिकित्सालय में बने स्वतंत्र फीडर में आई तकनीकी खराबी के चलते सोमवार को करीब दो घंटे तक बिजली आपूर्ति बाधित रही। इसके चलते एक्स-रे, अल्ट्रासाउंड आदि के कार्य प्रभावित रहे। हालांकि, ट्रामा व ओपीडी की सेवाएं न बाधित हों इसके लिए अस्पताल प्रशासन ने जनरेटर चलवाकर आपूर्ति करवाई।

सुबह करीब साढ़े 11 बजे स्वतंत्र फीडर के ट्रांसफार्मर में लगी टर्मिनल लीड जल जाने के कारण ट्रांसफार्मर आवाज करने लगा। इसके बाद करीब दो घंटे तक बिजली आपूर्ति ठप रही। इसके चलते मरीज उमस भरी गर्मी में बेहाल रहे। अधिकांश मरीजों के तीमारदार हाथ का पंखा मरीज को झलते नजर आए। सीएमएस डा. बृजेश कुमार ने अधिशासी अभियंता आरके मिश्रा को सूचना दी। उन्होंने अवर अभियंता को भेजकर खराब हुए ट्रांसफार्मर को सही करवाया। अधिशाषी अभियंता ने बताया कि 33 केवी के ट्रांसफार्मर में तकनीकी फाल्ट जो आया था उसे सही करा दिया गया है। नहीं बहाल हो सकी आपूर्ति

त्रिवेदीगंज : उपकेंद्र भिलवल से जुड़े दौलतपुर गांव में चार दिन पहले बारिश व आंधी से चार पोल टूट गए थे। इससे दौलतपुर, कोलवा व शेखवामऊ गांव की करीब तीन हजार की आबादी अंधेरे में रहने को विवश हैं। कनेक्शन धारक रविद्र, संजय, रामफेर, सरवन, राकेश, कल्लू, दयाशंकर, देवनारायण, राम आधार, राम किशोर, भगवती प्रसाद, कृपाशंकर, राजेन्द्र, रामा द्विवेदी, शिवप्रसाद, बाबूलाल, रामदास, पुत्तीलाल, रामखेलावन, छोटेलाल आदि का कहना है कि चार दिन पहले बारिश व तेज हवा में चार पोल टूट गए थे। शिकायत के बाद भी अभी तक नए पोल नहीं लगाए गए हैं। अधिशाषी अभियंता सत्येंद्र पांडेय का कहना है कि नए पोल लगवाकर बिजली आपूर्ति सुनिश्चित कराई जाएगी। करंट से महिला की मौत

नई सड़क : देवीगंज के अनिल कुमार जायसवाल की 42 वर्षीय पत्नी बबिता जायसवाल रविवार की रात छत पर पड़े कपड़े लाने गई थी। इसी दौरान करंट की चपेट में वह आ गई। घर वाले जब तक कुछ समझ पाते बबिता की मौत हो चुकी थी। हादसे की सूचना पर विधायक सतीश चंद्र शर्मा मौके पर पहुंचे और पीड़ित परिवारजन को सांत्वना दी।

Edited By: Jagran