बाराबंकी : बीते एक सप्ताह से शारदा सहायक नहर में दहशत बना घड़ियाल आखिरकार शुक्रवार को वन विभाग की गिरफ्त में आ ही गया। वनकर्मियों ने उसे सुरक्षित पकड़ कर घाघरा नदी में छोड़ दिया।

करीब एक सप्ताह पूर्व देवा के लालपुर के निकट ग्रामीणों ने एक घड़ियाल देखा था। शारदा सहायक नहर में घड़ियाल की खबर से ग्रामीणों में दहशत थी। जानवर भी नहर किनारे पानी पीने नहीं ले जाया जा रहा था। घड़ियाल लालपुर से बढ़ते हुए कई किलोमीटर दूर खरेहटा तक आ गया था। इस बीच वनकर्मियों ने उसे सुरक्षित पकड़ने के प्रयास किए लेकिन आहट पाकर वह बाहर नहीं आ रहा था। शुक्रवार की सुबह वनकर्मियों ने जाल की मदद से घड़ियाल को सुरक्षित पकड़ लिया। घड़ियाल के पकड़े जाने की सूचना पर ग्रामीणों की भारी भीड़ इकट्ठा हो गई। रेंजर देवा अनुज सक्सेना ने बताया कि घड़ियाल को सुरक्षित पकड़ कर उसे घाघरा नदी में छोड़ दिया गया है। घड़ियाल के पकड़े जाने के बाद लोगों ने राहत की सांस ली है। वन दारोगा सुभाष श्रीवास्तव, केसी वर्मा, राकेश सिंह सहित वन विभाग की टीम मौजूद रही।

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran