संवादसूत्र, ओरन : बिसंडा विकास खंड क्षेत्र अंतर्गत मंझीवा सानी गांव के पंचायत भवन में लोगों ने कब्जा रखा है। भवन के कमरों में कंडे और मवेशियों को बांधा जा रहा है। ग्रामीणों का आरोप है कि संबंधित अधिकारियों की सह पर सरकारी भवन में कब्जा है। यही नहीं शौचालय, कालोनी आदि के नाम पर भी वसूली की जा रही है। ग्रामीणों ने डीएम से जांच कराकर कार्रवाई की मांग की है।

मंझीवा सानी गांव विकास कार्यों से कोसों दूर हैं। कुछ सालों शासन ने विकास कार्यों को गति देने के लिए गांव में पंचायत भवन की स्थापना की थी। लेकिन अब उसमें भी लोगों ने कब्जा कर रखा है। लाखों रुपये कीमत के इस भवन में लोग कंडा-लकड़ी और मवेशी बांध रहे हैं। गांव के लोगों ने डीएम को पत्र भेजकर कहा कि धांधली और भ्रष्टाचार के कारण गांव में विकास कार्य नहीं हो पा रहा है। शासन की योजनाएं जरूरतमंदों तक पहुंच रही हैं। आरोप लगाया कि अधिकारियों की मिलीभगत के कारण पात्र लोगों को शौचालय नहीं बनवाया जा रहा है। कालोनी एलॉट कराने के नाम पर रुपये मांगे जा रहे हैं। गांव के मन्ना यादव ने बताया कि गांव में सीसी मार्ग का निर्माण हुआ है। वह भी आधा अधूरा कर छोड़ दिया गया। तालाबों के घाटों के निर्माण में अनियमितता बरती गई है। रतनबाबू , रामप्रताप, ललक, राजेश, कमलेश, चेलाराम, बबलू आदि ने जांच कराकर कार्रवाई की मांग की है। उधर बीडीओ बृजकिशोर कुशवाहा ने बताया कि मामला संज्ञान में आया है। सचिव को तत्काल पंचायत भवन खाली कराने के निर्देश दिए गए हैं। जहां भ्रष्टाचार की शिकायत है उसकी जांच कराई जाएगी।

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran