जागरण संवाददाता, बांदा : मुख्यमंत्री के संभावित दौरे को लेकर प्रशासन तैयारियों में पूरे जी जान से जुटा है। सोमवार को विकास भवन और मंडी परिषद से लेकर कलेक्ट्रेट तक इसकी बानगी देखने को मिली। सीडीओ ने सभी ब्लाकों के चार-चार गांवों को सभी ¨बदुओं पर संतृप्त करने और योजनाओं प्रगति बढ़ाने, स्कूलों व आंगनबाड़ी केंद्रों को साफ-सुथरा करने की जिम्मेदारी डीपीआरओ और बीडीओ को सौंपी है। मंडी समिति में सीएम के कार्यक्रम के लिए सफाई की जाती रही। डीएम और सीडीओ गांवों का दौरा कर रहे हैं।

पिछले साल दौरे पर आए सीएम योगी आदित्यनाथ ने सभी अधिकारियों के साथ मी¨टग कर सभी योजनाओं को निर्धारित समय में पूरा कराने और विकास कार्यों में तेजी लाने के निर्देश दिए थे। उन्होंने यह भी कहा था कि दोबारा दौरे में कोई खामियां मिलेंगी तो अधिकारियों को बख्शा नहीं जाएगा। लेकिन अधिकारी सीएम के आदेश को लेकर बेफिक्र रहे। अब जब उनके निरीक्षण की बात फिर सामने है तो सभी अफसरों की नींद गायब है। 16 सितंबर को उनके दौरे को लेकर रातदिन एक किए हुए हैं। अधिकारियों की मानें तो इस बार सीएम विकास भवन या जिला अस्पताल का औचक निरीक्षण कर सकते हैं। मंडी समिति में भी उनके जाने की पूरी संभावना है। इसके अलावा सीएम किसी दो गांव में जाकर विकास कार्यों की हकीकत भी देखेंगे। प्रशासन के पास अब ज्यादा समय भी नहीं हैं। ऐसे में सीडीओ हीरालाल ने सभी ब्लाकों के चार-चार गांवों को सीएम के निरीक्षण को तैयार करने के लिए निर्देशित किया है। उन्होंने इसके लिए सभी बीडीओ को सख्त आदेश भी दिए हैं। उधर, डीएम और सीडीओ विकास भवन को चमकाने में खुद निगाह रखे हुए हैं। तीसरे दिन सोमवार को भी विकास भवन में रंग-रोंगन और दफ्तरों में सफाई, परदे आदि बदले जाने का क्रम चलता रहा। अधिकारी विभागीय कार्यों के बजाए इसमें व्यस्त रहे।

-------

सीएम कलेक्ट्रेट में बैठक कर सकते हैं। किसी दो गांवों में निरीक्षण करेंगे। उसी के आधार पर हर ब्लाक के चार-चार गांवों में सभी व्यवस्थाएं दुरुस्त की जा रही हैं। आंगनबाड़ी केंद्र को साफ किया जा रहा है। स्कूलों में सफाई के अलावा बच्चों को भी तैयार किया जा रहा है। ताकि सीएम उनसे सवाल करें तो वे बेहिचक जवाब दे सके

-सीडीओ हीरालाल

Posted By: Jagran