जागरण संवाददाता, बांदा: छात्रा-छात्राओं, सामानों की सुरक्षा और सुंदरता के लिए शासन परिषदीय स्कूलों को चहारदीवारी और भव्य गेट से सुजज्जित करने की तैयारी कर रहा है। विभागीय आकड़ों के अनुसार मंडल में 638 विद्यालय बिना बाउंड्रीवाल के हैं। इनमें से 62 विद्यालयों के लिए 3 करोड़ 39 लाख 45 हजार की धनराशि आवंटित की है। निदेशक ने वित्त वर्ष समाप्त होने से पहले विद्यालयों में चहारदीवारी का निर्माण कराकर धनराशि का हिसाब देने को कहा है।

चित्रकूटधाम मंडल में करीब 4300 प्राथमिक और उच्च प्राथमिक विद्यालय संचालित हो रहे हैं। शासन को भेजे गई विभागीय आकड़े के अनुसार 638 विद्यालय ऐसे हैं, जहां चहारदीवारी और सुरक्षा से संबंधित इंतजाम नहीं हैं। इनमें सर्वाधिक 293 विद्यालय बांदा में हैं, जबकि चित्रकूट में 97, हमीरपुर में 132 व महोबा में 116 विद्यालय ऐसे हैं। इनमें अकसर अन्ना मवेशी घुस आते हैं। वे यहां गंदगी करने के साथ ही छात्र-छात्राओं को आये दिन घायल कर देते हैं। इसके अलावा चोर उचक्के भी रात में घुस आते हैं, वे यहां गलत सामग्री फैलाने के साथ ही विद्यालय की संपत्ति भी चुरा ले जाते हैं। इसे देखते हुए बेसिक शिक्षा निदेशालय ने यह फैसला लिया है। इसके तहत मंडल के 62 विद्यालयों में चहारदीवारी और गेट के लिए धनराशि आवंटित कर दी है। इसमें सबसे ज्यादा 27 विद्यालय बांदा जनपद चिह्नित किए गये हैं। निदेशक सर्वेंद्र विक्रम सिंह ने जिलाधिकारियों को भेजे पत्र में कहा है कि यह धन सिर्फ चहारदीवारी व गेट पर ही खर्च होगा। इसका निर्माण डीएम अपनी देखरेख में शासन से अनुमोदित अच्छा कार्य करने वाली सरकारी संस्था से ही कराएंगे।

धनराशि आवंटन व विद्यालयों की स्थिति

जिला बिना चहारदीवारी बनेगी धनराशि

बांदा 293 27 1,47,82,500

चित्रकूट 97 20 1,09,50,000

हमीरपुर 132 5 27,37,500

महोबा 116 10 54,75,000

---------------------------------------------

योग 638 62 3,39,45,000

--------------------------------------------

-शासन स्तर से चहारदीवारी व गेट के लिए मिली धनराशि को जल्द खर्च किया जाएगा। गुणवत्ता व मानक के लिए समिति गठित कर निगरानी कराई जाएगी।

-जगत सिंह राजपूत, मंडलीय अपर शिक्षा निदेशक, बेसिक शिक्षा, चित्रकूटधाम मंडल

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस