जासं, बलरामपुर :

जिले की तीन विधानसभा सीटों पर कांग्रेस ने अपने प्रत्याशी घोषित कर दिए हैं। गैंसड़ी विधानसभा से डा. इश्तियाक, बलरामपुर सदर सुरक्षित से अधिवक्ता बबिता आर्या और उतरौला से पूर्व विधायक धीरेंद्र प्रताप सिंह धीरू को उम्मीदवार बनाया है। तुलसीपुर विधानसभा क्षेत्र से अभी किसी के नाम की घोषणा नहीं की है। कांग्रेस की दूसरी सूची में दो विधानसभा बलरामपुर सदर सुरक्षित और गैंसड़ी से प्रत्याशियों के नामों की घोषणा की है। इसमें गैंसड़ी से डा. इश्तियाक को प्रत्याशी बनाया है। पचपेड़वा के जुड़ीकुइया में डा. इश्तियाक अपनी क्लीनिक चलाते हैं। मूलरूप से सिद्धार्थनगर के इटवा बाजार निवासी डा. इश्तियाक ने राजस्थान विश्वविद्यालय के राजपूताना मेडिकल कालेज से बीयूएमएस की डिग्री ली है। पढ़ाई के दौरान से ही राजनीति में सक्रिय थे। और मेडिकल कालेज छात्रसंघ के अध्यक्ष बने। बताया कि वह शुरू से कांग्रेस के सदस्य हैं। उसका पुरस्कार पार्टी ने विधानसभा चुनाव में टिकट के रूप में दिया है। 23 साल से बलरामपुर जिले में रह रहे हैं। बलरामपुर सदर सुरक्षित से पेशे से अधिवक्ता बबिता आर्या पर पार्टी हाईकमान ने भरोसा किया है। बबिता आर्या उच्च न्यायालय लखनऊ व बलरामपुर जिला न्यायालय में प्रैक्टिस करती हैं। मूलरूप से सदर ब्लाक के धुसाह गांव की निवासी हैं। इनकी शादी गोंडा के केशवपुर पहड़वा निवासी दीपनरायन मिश्र के साथ हुई है।

उतरौला से पूर्व विधायक धीरेंद्र प्रताप सिंह धीरू को पार्टी ने पहली सूची में ही प्रत्याशी घोषित कर दिया था। बलरामपुर ब्लाक के ग्राम गैंजहवा निवासी धीरू सिंह पहली बार 2007 में बसपा के टिकट पर विधायक चुने गए थे। परसिमन के बाद सदर सीट आरक्षित होने के बाद 2012 में बसपा ने उतरौला से उम्मीदवार बनाया था, लेकिन चुनाव हार गए थे। श्रावस्ती लोकसभा क्षेत्र से कांग्रेस ने 2019 में चुनाव मैदान में उतारा था।

Edited By: Jagran