अमित श्रीवास्तव, बलरामपुर : नगर में सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट लगाने का रास्ता साफ हो गया है। सर्वे, जमीन चयन और पहली किस्त 61.88 करोड़ रुपये मिलने के बाद कार्यदायी संस्था सीएलडीएफ (निर्माण एवं श्रम विकास संघ) ने ई-टेंडर की प्रक्रिया शुरू कर दी है। 165 करोड़ रुपये से प्लांट के साथ सीवर लाइन बिछाने का काम जनवरी में शुरू होगा। इससे शहर के सवा लाख लोगों को गंदगी से निजात मिल सकेगी।

नगर पालिका परिषद और जल निगम ने सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट लगाने का प्रस्ताव करीब सालभर पहले किया था। शासन ने स्वीकृति देने के साथ ही कार्यदायी संस्था को भी नामित कर दिया था। सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट लगाने के लिए सितंबर में सर्वे शुरू किया गया। फिर कालीथान गांव में 4000 वर्गमीटर एवं विशुनीपुर गांव में 2500 वर्गमीटर जमीन चिह्नित की गई। इन दोनों स्थानों पर सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट लगेगा। शोधित पानी चांदे ताल में गिराया जाएगा। जो सीधे राप्ती नदी में जाकर मिलेगा। 25 वार्डो के ठोस अपशिष्ट से जैविक खाद तैयार की भी कवायद है।

------

घर-घर बिछेगी पाइप लाइन :

जिला मुख्यालय पर जलनिकासी खुले नालों व नालियों के भरोसे है। बरसात में कई मुहल्लों में जलभराव की समस्या खड़ी हो जाती है। सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट बनने के बाद 100 किलोमीटर के दायरे में पाइप लाइन तैयार होगी। जिससे नगर के सभी घरों को जोड़ा जाएगा।

------

-सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट व सीवर लाइन बिछाने के लिए सर्वे पूरा कर लिया गया है। ई-टेंडर प्रक्रिया इसी महीने पूरी कर ली जाएगी। इसके बाद काम शुरू कराया जाएगा।

-अमित गुप्त, सहायक अभियंता, सीएलडीएफ

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस