श्लोक मिश्र, बलरामपुर : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नगर में अवैध रूप से चल रहे वाहन अड्डों को 48 घंटे में खत्म करने का फरमान जारी किया है। इससे ठेकेदारों में अफरातफरी का माहौल है। नगर पालिका उतरौला, बलरामपुर, नगर पंचायत तुलसीपुर व पचपेड़वा में प्रत्येक वर्ष टैक्सी स्टैंड का ठेका होता है। अधिक बोली लगाने वाले ठेकेदारों को निर्धारित वाहन अड्डों पर शुल्क वसूलने की अनुमति मिलती है। इसकी आड़ में ठेकेदार अवैध स्टैंड बनाकर वाहनचालकों से मनमानी वसूली कर रहे हैं। इसे लेकर आए दिन विवाद भी होता है। जिले में वाहन अड्डों का हाल :

नगर पालिका बलरामपुर में एक करोड़ सात लाख रुपये में ठेका दिया गया है। पांच स्थानों पर अस्थाई वाहन अड्डा बनाकर वसूली की जा रही है। गोंडा व उतरौला मार्ग पर आने-जाने वाले वाहनों के लिए तुलसीपुर मार्ग स्थित सड़क पटरी पर टैक्सी स्टैंड निर्धारित किया है। बहराइच मार्ग के लिए पीपल चौराहा से स्टेडियम जाने वाली सड़क पटरी के बगल टैक्सी स्टैंड स्थित है। तुलसीपुर मार्ग जाने वाले वाहनों के लिए मेजर चौराहा सड़क पटरी पर स्टैंड बनाया गया है। बहराइच मार्ग के लिए बने टैक्सी स्टैंड पर कभी वाहन खड़े नहीं होते हैं। मेजर चौराहा स्टैंड पर भी इक्का-दुक्का वाहन ही दिखाई पड़ते हैं। नगर पंचायत तुलसीपुर में 11 प्रतिशत बढ़ोतरी के साथ चालू वित्तीय वर्ष में 30 लाख रुपये में ठेका दिया गया है। हर्रैया तिराहा व इटवा चौराहा पर बने वाहन अड्डा पर व्यावसायिक वाहनों से शुल्क वसूल किया जाता है। नगर पंचायत पचपेड़वा में वाहन अड्डा का ठेका इस वित्तीय वर्ष में धर्मेंद्र प्रताप सिंह के नाम से 27 लाख रुपए में हुआ है। राष्ट्रीय राजमार्ग पर भारतीय स्टेट बैंक के सामने वाहन अड्डा की वसूली की जाती है। तुलसीपुर व पचपेड़वा जाने वाले व्यावसायिक वाहनों को टोल प्लाजा पर टैक्स देने के बाद टैक्सी स्टैंड पर भी शुल्क देना पड़ता है।

उतरौला में नहीं हुआ ठेका :

-नगर पालिका उतरौला में चालू वित्तीय वर्ष में टैक्सी स्टैंड की टोकन वसूली का ठेका अब तक किसी को नहीं आवंटित है। नगर पालिका ने टोकन वसूली के लिए छह स्थान निर्धारित किए हैं। बलरामपुर मार्ग पर श्यामा प्रसाद मुखर्जी चौराहा, मनकापुर बस स्टैंड, धुसवा स्टैंड, पचपेड़वा तिराहा, डुमरियागंज स्टैंड व तुलसीपुर मार्ग पर वाहन अड्डा बनाया जाता है।

सुविधाओं के साथ वसूली का निर्देश : अपर जिलाधिकारी राम अभिलाष का कहना है कि निर्धारित टैक्सी स्टैंडों पर सुविधाओं के साथ वसूली करवाने का निर्देश दिया गया है। नगर क्षेत्र में व्यवसाय के उद्देश्य से प्रवेश करने वाले वाहनों से ही टैक्सी स्टैंड शुल्क वसूलने का नियम है। टैक्सी स्टैंड पर यात्रियों के बैठने के लिए सीट, पेयजल व शौचालय की व्यवस्था हर हाल में होनी चाहिए।

Edited By: Jagran