संवादसूत्र, बलरामपुर : स्वास्थ्य सेवाओं की हकीकत परखने पहुंचे संयुक्त निदेशक डा. अनिल मिश्र को महिला अस्पताल के दवा वितरण कक्ष में दो बाहरी व्यक्ति बैठे मिले। अल्ट्रासाउंड कहां होता है, पूछने पर सही जवाब न देकर गलत जानकारी देने पर नाराज जेडी ने नाराजगी जताई। साथ ही दोनों फार्मासिस्ट से स्पष्टीकरण तलब कर बाहरी व्यक्तियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराने के निर्देश भी दिए। हालांकि सीएमएस डा.विनीता राय ने कहा कि वो दोनों लोग बाहरी नहीं बल्कि उनके एंबुलेंस कर्मी ही हैं।

महिला चिकित्सालय पहुंचे संयुक्त निदेशक ने सबसे पहले ओपीडी का निरीक्षण किया। यहां इलाज कर रहे चिकित्सकों की उपस्थिति व मरीजों के इलाज की जानकारी ली। दवा वितरण कक्ष में फार्मासिस्ट डा. राकेश दुबे व डा.अखलाक अहमद के अलावा दो बाहरी व्यक्ति थे। जब उन्होंने पूछा कि अल्ट्रासांउड कहां होता है, सवाल पर दोनों ने अलग जाकर पर्चा कटाने की नसीहत दे दी। पूछने पर एक ने खुद को ईएमटी बताया तो दूसरा कोई जवाब नहीं दे पाया। जेडी ने सीएमएस डा.विनीता राय को दोनों फार्मासिस्टों को नोटिस देकर उनका स्पष्टीकरण तलब करने व बाहरी व्यक्तियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराने निर्देश दिया। महिला चिकित्सालय में तीमारदारों के बैठने व पेयजल की व्यवस्था न होने पर निर्देश दिया कि रोगी कल्याण समिति के बजट से वार्ड के दोनों तरफ शेड डालकर 25 से 30 कुर्सियां लगवाई जाएं। वाटर कूलर की व्यवस्था कराएं। एसएनसीयू वार्ड का निरीक्षण कर वहां भर्ती बच्चों के तीमारदारों से जानकारी ली। जिला मेमोरियल चिकित्सालय पहुंचे जेडी ने वहां चल रहे पोषण पुर्नवास केंद्र व किचन का जायजा लिया। साथ ही निर्माणाधीन इमरजेंसी वार्ड को शीघ्र संचालित करने का निर्देश मुख्य चिकित्साधीक्षक डा.अशोक कुमार को दिया।

सुबह ही मिल गई थी जेडी के आने की सूचना :

-संयुक्त निदेशक भले ही औचक निरीक्षण पर पहुंचे थे, लेकिन उनके यहां आने की सूचना सुबह ही मिल गई थी। जेडी ने बताया कि उनके यहां आने की सूचना कैसे लीक हो गई, यह गंभीर प्रश्न है। महिला अस्पताल में बाहरी व्यक्तियों को बैठाने वाले दोनों फार्मासिस्ट से स्पष्टीकरण तलब कर प्राथमिकी का निर्देश सीएमएस को दिया है। वहीं सीएमएस डा.विनीता राय ने बताया कि बाहरी नहीं दोनों उनके अस्पताल के ही एंबुलेंस कर्मी हैं।

Edited By: Jagran