बलरामपुर में बनेगा देवी पाटन मंडल का पहला मशरूम बीज प्रयोगशाला

त्रिपुरारी शंकर तिवारी, बलरामपुर : देवी पाटन मंडल में मशरूम की खेती को बढ़ावा देने के लिए बीज प्रयोगशाला की स्थापना की जा रही है। उद्यान विभाग ने सदर ब्लाक के सुखुईकला गांव में जमीन का चयन कर लिया है। बीज उत्पादन कर मंडल के चारों जिले गोंडा, बहराइच, श्रावस्ती व बलरामपुर के साथ पड़ोसी जनपद सिद्धार्थनगर के किसानों को दिया जाएगा। साथ ही प्रयोगशाला में 10 श्रमिकों को नियमित रोजगार भी मिलेगा। भारत सरकार ने इसके लिए 25 लाख रुपये विभाग को आवंटित कर दिया है। नीति आयोग कृषि, स्वास्थ्य, शिक्षा व्यवस्था को सुदृढ़ करने के लिए प्रयासरत है। किसानों की आय बढ़ाने के लिए कृषि यंत्रों के साथ कम लागत में अधिक लाभ वाली फसलों के उत्पादन के लिए काम किया जा रहा हे। इसके लिए किसानों को प्रशिक्षण देकर आधुनिक तरीके से खेती का पाठ पढ़ाया जा रहा है। इसी के तहत मशरूम बीज प्रयोगशाला की स्थापना की जा रही है। सेखुईकला गांव में 1500 वर्ग फिट क्षेत्रफल में प्रयोगशाला की स्थापना की जाएगी। इसके चारों तरफ पौधारोपण किया जा रहा है। यहां गेहूं और बाजार के दानों को हल्का उबाल कर उसपर मशरूम का बीज उगाया जाएगा। 50 क्विंटल वार्षिक उत्पादन का लक्ष्य : जिला उद्यान अधिकारी पारसनाथ ने बताया कि 1500 वर्ग फिट में प्रयोगशाला तैयार की जाएगी। 50 क्विंटल वार्षिक बीज उत्पादन का लक्ष्य है। किसानों की मांग के अनुरूप उत्पादन बढ़ाया व कम किया जा सकता है। अभी बस्ती में बीज प्रयोगशाला है। मशरूम की खेती के लिए किसानों को कृषि व उद्यान विभाग संयुक्त रूप से प्रशिक्षित करेगा। किसानों को बाजार मूल्य से कम पर बीज दिया जाएगा। कम से कम 10 लोगों को रोजगार मिलेगा। बजट का आवंटन कर दिया गया है। चयनित जमीन का निरीक्षण जिलाधिकारी ने भी किया है। शीघ्र ही कार्य शुरू कर दिया जाएगा।

Edited By: Jagran