बलरामपुर : प्रधानमंत्री आवास शहरी में अपात्रों का चयन कराने के आरोप में सर्वे संस्था के सचिव के खिलाफ सहायक परियोजना अधिकारी राजेश कुमार चौबे ने रिपोर्ट कोतवाली देहात में दर्ज कराई है। जिले के चारों नगर क्षेत्र बलरामपुर, उतरौला, तुलसीपुर व पचपेड़वा में आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को प्रधानमंत्री आवास देने की योजना डूडा द्वारा संचालित है। योजना का लाभ देने के लिए पात्रों का चयन के लिए सर्वे का कार्य संस्था को दिया गया। सहायक परियोजना अधिकारी ने आरोप लगाया है कि संकल्प सेवा संस्थान के सचिव अनिल मिश्र ने अनियमित तरीके से सर्वेक्षण कर सरकारी अभिलेखों में हेराफेरी कर पात्रों को अपात्र कर दिया। यही नहीं संस्था सचिव द्वारा अपात्र घोषित किए लोगों के आवेदन मुख्यालय से वापस मंगाकर जब सत्यापन कराया गया तो उसमें कई पात्र मिले। उपरोक्त आरोपों के तहत संस्था सचिव अनिल मिश्र के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है। बता दें कि सर्वे कंपनी के एक अन्य कर्मी अमित दीक्षित को पहले ही बर्खास्त किया जा चुका है। नौ अपात्र लाभार्थियों के खिलाफ पूर्व में ही मुकदमा दर्ज हो चुका है। परियोजना अधिकारी आशीष त्रिपाठी का कहना है कि अभिलेख लेकर फरार कर्मी लौट आया है। उसने अभिलेख दे दिए हैं। अभिलेखों की जांच चल रही है। इसमें विभाग के अन्य कर्मी भी आ सकते हैं। दूसरी तरफ संस्था सचिव अनिल मिश्र ने सर्वे का कोई कार्य उनके द्वारा न किए जाने की बात कही है।

Posted By: Jagran