बलरामपुर:

बहराइच मार्ग पर कोतवाली देहात से पहले देर रात चलते वाहनों पर ईंट व पत्थर मारने की घटनाएं बढ़ रही है। शनिवार की देर रात चलती इनोवा पर ईंट मारने की घटना में बहराइच के नानपारा निवासी सादिक हुसैन की पत्नी इकरा हुसैन घायल हो गई। घायल महिला का इलाज लखनऊ के एक निजी अस्पताल में चल रहा है। पुलिस घटना को लेकर अनजान बनी है। वाहनों पर ईंट चलाने की घटना को लेकर लोगों में दहशत का माहौल है।

गोंडा में सरयू पुल क्षतिग्रस्त होने के बाद से बहराइच होकर ही लोग लखनऊ आवागमन कर रहे हैं। इस लिए बहराइच मार्ग पर वाहन देर रात तक चलते हैं। करीब 15 दिन से चलते वाहनों पर ईंट फेंकने की घटना हो रही है। कलेक्ट्रेट मोड़ और कोतवाली देहात के बीच में अंधेरे का फायदा उठाकर कोई वाहनों पर ईंट से हमला करता है। सादिक हुसैन ने बताया कि परिवार के साथ बलरामपुर निवासी रिश्तेदार गुलाम वारिस के यहां समारोह में भाग लेकर शनिवार की देर रात नानपारा के लिए निकले थे। कोतवाली देहात से कुछ कदम पहले ही दाहिने तरफ से अचानक ईंट चलने लगी। उसमें से एक ईंट चालक की सीट के पीछे बैठी पत्नी इकरा के चेहरे पर जा लगी। गाड़ी रुकती उससे पहले ही हमलावर फरार हो गए। ईंटा चलाने वाले तीन लोग भागते दिखे। खून से लतपत पत्नी को जिला मेमोरियल अस्पताल ले कर आए। यहां उपचार के बाद रेफर कर दिया। घटना की सूचना पुलिस को दी है।

12 को हो चुका है हमला:

12 अक्टूबर की रात करीब एक बजे भी गाड़ी पर ईंट चलाने की घटना हो चुकी है। शिव मेडिकल स्टोर के वाहन चालक शिव गोपाल श्रीवास्तव ने बताया कि वह गांव पीलीभीत जा रहा था। किसी ने ईंटा फेंककर मारा तो गाड़ी का शीश टूट गया। गांव के पास 112 यूपी डायल को घटना की सूचना दी, लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की।

मिली है सूचना:

प्रभारी निरीक्षक विद्यासागर वर्मा का कहना है कि रात में किसी ने सूचना दी है। मामले की छानबीन की जा रही है। वाहनों पर ईंटा चलाने वाला दुश्मन कौन है। शीघ्र ही पता कर लिया जाएगा।

Edited By: Jagran