बलरामपुर: अलाभित समूह व दुर्बल वर्ग के बच्चों को नगर निकायों के निजी स्कूलों में मुफ्त शिक्षा की राह आसान हो गई है। कक्षा एक व पूर्व प्राथमिक कक्षाओं में कमजोर वर्ग के बच्चों को दाखिला दिलाने की प्रक्रिया जारी है। दो चरणों में 25 बच्चों का विभिन्न निजी विद्यालयों में नामांकन हो चुका है। अब तीसरे चरण की प्रक्रिया पूरी होने के बाद लाटरी के माध्यम से नन्हे-मुन्नों का स्कूलों में दाखिला कराया जाएगा।

अलाभित समूह के अंतर्गत अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग, एचआइवी व कैंसर पीड़ित माता-पिता का बच्चा, निराश्रित बेघर, निश्शक्त व दुर्बल वर्ग के बालक-बालिका प्रवेश के लिए आवेदन कर सकते हैं। पहले चरण की प्रक्रिया पूरी होने पर 15 बच्चों का विभिन्न स्कूलों में दाखिला कराया गया था। दूसरे चरण के लिए मिले आनलाइन आवेदन के बाद लाटरी पद्धति से 10 नौनिहालों को चयनित किया गया। तीसरे चरण में के लिए आनलाइन आवेदन जारी है। 10 जुलाई तक आवेदन लिया जाएगा। इसके बाद सत्यापन होने पर लाटरी के माध्यम से चयन कर निजी स्कूलों में नामांकन कराया जाएगा।

यह दस्तावेज होंगे अनिवार्य:

अलाभित समूह के तहत आनलाइन एवं आफलाइन आवेदन की प्रति के साथ निवास प्रमाण पत्र, आधार कार्ड, मतदाता पहचान पत्र, राशन कार्ड, ड्राइविग लाइसेंस, बैंक पासबुक में से कोई एक होना चाहिए। बच्चे का जन्म प्रमाण पत्र, जाति प्रमाण पत्र, दिव्यांग प्रमाण पत्र व आय प्रमाण पत्र अनिवार्य है। जिस विद्यालय में प्रवेश चाहिए, उसकी दूरी निवास प्रमाण पत्र में अंकित पते से एक किलोमीटर की परिधि में होनी चाहिए।

आफलाइन भी कर सकते हैं आवेदन:

बीएसए डा. रामचंद्र ने बताया कि जो अभिभावक आनलाइन आवेदन नहीं कर सकते हैं, वह अपना आवेदन अंतिम तिथि से पांच दिन पहले संपूर्ण अभिलेख के साथ संबंधित खंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय में जमा कर सकते हैं। शैक्षिक सत्र 2021-22 में कक्षा एक व पूर्व प्राथमिक में ही प्रवेश दिया जाएगा।

Edited By: Jagran