बलरामपुर: जिले में टीकाकरण अभियान फीका पड़ रहा है। कारण कुछ भी हो, लेकिन मंद पड़ रहे वैक्सीनेशन ने स्वास्थ्य विभाग की चिता बढ़ा दी है। हालांकि अफसरों का दावा है कि ऊपर से पर्याप्त वैक्सीन न मिल पाने के कारण ही टीकाकरण सुस्त है। जिले में कहीं टीकाकरण के लिए जागरूकता कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं। वहीं, कुछ केंद्रों पर वैक्सीन की बेहद किल्लत भी है। ऐसे में, एक माह में लक्ष्य को पूरा करना मुश्किल है।

बच्चों, किशोरों को छोड़कर करीब 16 लाख लोगों को टीका लगना है। अब तक 8,62,834 लोगों को ही पहली डोज लगाई जा चुकी है। लाभार्थियों के दोनों डोज मिलाकर अब तक 10,57,578 लोगों को टीका लगाया जा चुका है जबकि टीकाकरण का यह आंकड़ा 22 लाख के ऊपर पहुंचने पर ही शत-प्रतिशत लोगों को वैक्सीन की पहली खुराक मिल पाएगी। यह लक्ष्य हासिल करना अभी टेढ़ी खीर दिख रहा है। कारण, कहीं जागरूकता का अभाव है तो कहीं वैक्सीन न मिल पाने के कारण टीकाकरण अभियान रफ्तार नहीं पकड़ पा रहा है।

वैक्सीन की पर्याप्त डोज मिलते ही पूरा कर लेंगे लक्ष्य:

जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा. अरुण कुमार वर्मा ने बताया कि पात्र लाभार्थियों में 52 प्रतिशत से अधिक लोगों को पहली खुराक दी जा चुकी है। सोमवार को 142 बूथों पर टीकाकरण अभियान चलाया गया। इसमें 15,597 लोगों को वैक्सीन लगाई गई। मंगलवार को भी इतने ही लक्ष्य रखकर टीकाकरण किया जाएगा। शत प्रतिशत लोगों को टीका लगाने के लिए स्वास्थ्य विभाग तत्पर है। जितनी वैक्सीन मिल रही है, उसे तुरंत लगा दिया जा रहा है। वैक्सीन की डोज ज्यादा मिलनी शुरू हो जाए तो एक माह में लक्ष्य पूरा कर लिया जाएगा।

Edited By: Jagran