बलरामपुर:

देश में सौ करोड़ लोगों को टीके लग चुके हैं। इसमें सबसे अधिक 12.21 करोड़ टीके यूपी में ही लगे हैं। इस उपलब्धि का जश्न मनाने के लिए स्वास्थ्य विभाग सभी ब्लाक स्तरीय अस्पतालों में विशेष आयोजन कर रहा है। इसमें वैक्सीनेशन से जुड़े कर्मी टीकाकरण से जुड़ी अपनी खट्टी मीठी यादें साझा करेंगे। साथ ही टीकाकरण को धार देने की रणनीति तय की जाएगी। वंचित लोगों का चिह्नांकन कर उन्हें राजी करने के लिए स्वयं सेवी संस्थाओं की मदद लेने की भी योजना है। अंत में चिकित्सक व टीकाकरण कर्मी बैच लगाकर एक दूसरे के प्रति आभार जताते हुए हौसला बढ़ाएंगे। इसकी शुरूआत सीएमओ कार्यालय से हुई।

मुख्य चिकित्साधिकरी डा.सुशील कुमार ने जीत का जश्न मनाते हुए सभी चिकित्सकों, कर्मियों को टीकाकरण में सराहनीय योगदान के लिए बधाई दी। उन्होंने टीकाकरण कर्मियों के सम्मान में ताली बजाते हुए कहा कि जब तक जिले के सभी लोगों को वैक्सीन की दोनों डोज न लग जाए, हमें रुकना न ही थकना है। जिला मलेरिया अधिकारी राजेश पांडेय, जिला स्वास्थ्य शिक्षा एवं सूचना अधिकारी अरविद मिश्र, यूनीसेफ की जिला समन्वयक शिखा श्रीवास्तव, मातृ स्वास्थ्य के जिला परामर्शदाता विनोद त्रिपाठी, अमित श्रीवास्तव, जगदीश सिंह ने भी टीकाकरण कर्मियों का हौसला बढ़ाया। सीएचसी श्रीदत्तगंज में अधीक्षक डा. विकल्प मिश्र ने जीत का जश्न मनाते हुए टीकाकरण से जुड़ी यादें साझा की। इसी तरह अन्य सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में भी टीके का जश्न मनाया जा रहा है। शत-प्रतिशत टीकाकरण की तैयारी :

जिले में 1572506 लोगों को वैक्सीन लगना है। अब तक 1350128 टीके लग चुके हैं। 9,70,111 लोगों को पहला व 3,70,017 को दूसरी खुराक लग चुकी है। दिसंबर तक दूसरी खुराक से वंचित सात लाख व दोनों टीके से वंचित पांच लाख लोगों को वैक्सीन देने का लक्ष्य है। प्रत्येक दिन 34 हजार टीकाकरण का लक्ष्य है। जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा.अरुण कुमार वर्मा ने बताया कि जो भी ब्लाक टीकाकरण में फिसड्डी हैं, वहां अभियान चलाकर अधिक से अधिक लोगों को वैक्सीन की दोनों डोज लगाई जाएगी।

Edited By: Jagran