बलरामपुर: मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत जिले भर की गरीब बेटियों के हाथ पीले करने की तैयारियां शुरू हो गईं है। शारदीय नवरात्र में 225 जोड़ों के एक साथ दांपत्य सूत्र में बंधने की तिथि तय कर दी गई है। सभी नौ ब्लाकों व चारों नगर निकायों में आठ अक्टूबर को मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत इन जोड़ों का विवाह कराया जाएगा। 51 हजार रुपये प्रति जोड़े की दर से 114.75 लाख रुपये अनुदान भी दिया जाएगा। आठ अक्टूबर को सीएम सामूहिक विवाह कराया जाएगा। वहीं, बीडीओ व ईओ को सत्यापन की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

इस योजना के तहत मिले आवेदन पत्रों के सत्यापन की जिम्मेदारी खंड विकास अधिकारी व अधिशासी अधिकारियों को दी गई है।

दिया गया जोड़ों को लाने का लक्ष्य:

मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह में सभी नौ ब्लाकों व चारों नगर निकायों को जोड़ों को शामिल कराने का लक्ष्य दिया गया है। सदर, हरैया सतघरवा, पचपेड़वा, गैंसड़ी, तुलसीपुर, रेहराबाजार व उतरौला ब्लाक को 23-23 जोड़ों को लाने का लक्ष्य मिला है। श्रीदत्तगंज व गैंड़ासबुजुर्ग को 22-22 जोड़ों को शामिल कराना है। साथ ही नगर पालिका बलरामपुर से आठ जोड़ों को सीएम सामूहिक विवाह में शामिल कराने का लक्ष्य है। नगर पालिका उतरौला, नगर पंचायत पचपेड़वा व तुलसीपुर से चार-चार जोड़ों को लाने की जिम्मेदारी दी गई है।

दी गई जिम्मेदारी:

मुख्य विकास अधिकारी रिया केजरीवाल का कहना है कि सीएम सामूहिक विवाह के लिए प्राप्त आवेदन पत्रों के सत्यापन के उपरांत पात्र लाभार्थियों की सूची समाज कल्याण अधिकारी को उपलब्ध कराने की जिम्मेदारी बीडीओ व ईओ को दी गई। नवरात्र में निर्धारित तिथि पर गरीब बेटियों का सामूहिक विवाह कराया जाएगा।

Edited By: Jagran