बलरामपुर : 69 हजार शिक्षक भर्ती के तीसरे चरण में नवचयनित अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र वितरण का शुभारंभ लखनऊ में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किया। इसी क्रम में जिला पंचायत सभागार में समारोह आयोजित कर 73 अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र दिया गया। समारोह के दौरान मुख्यमंत्री के नियुक्ति पत्र वितरण कार्यक्रम का सजीव प्रसारण किया गया। नवचयनित अभ्यर्थियों ने मुख्यमंत्री का संवाद सुना। विधायकों ने नवनियुक्त शिक्षकों को ईमानदारी से अपने दायित्वों का निर्वहन करने का संकल्प दिलाया।

मुख्य अतिथि सदर विधायक पल्टूराम ने कहाकि सरकार ने युवाओं को रोजगार देने का कार्य किया है। वर्तमान सरकार में भर्ती का आधार केवल योग्यता है। सरकारी स्कूलों में नौनिहालों को बेहतर शिक्षा दी जा रही है। सभी नव चयनित शिक्षक मेहनत, लगन के साथ शिक्षण कार्य करें। विशिष्ट अतिथि गैंसड़ी विधायक शैलेश सिंह शैलू ने कहाकि प्रारंभिक शिक्षा का विद्यार्थी के जीवन में बहुत महत्वपूर्ण योगदान होता है। परिषदीय विद्यालयों में बेहतर एवं गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान कर बच्चों को एक सुनहरा भविष्य प्रदान करने का कार्य किया जाए। भाजपा जिलाध्यक्ष प्रदीप कुमार सिंह व जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी डा. रामचंद्र ने अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र दिया। संचालन एकेडमिक रिसोर्स पर्सन अरुण कुमार मिश्र ने किया। खंड शिक्षा अधिकारी मनीराम वर्मा, महेंद्र नाथ त्रिपाठी, भाजपा मीडिया प्रभारी डीपी सिंह, बृजेंद्र तिवारी, जिला समन्वयक निरंकार पांडेय, मोहित देव त्रिपाठी, वरिष्ठ सहायक रक्षाराम, दिलेराम, अर्जुन सोनकर मौजूद रहे। बिजली गुल होते ही पसीने से भीगे माननीय :

समारोह के दौरान गैंसड़ी विधायक का उद्बोधन शुरू होते ही बिजली गुल हो गई। जनरेटर चलाकर माइक व साउंड सिस्टम तो शुरू कर दिया गया, लेकिन सभागार में लगे पंखे बंद रहे। मंचासीन माननीयों के साथ नवचयनित अभ्यर्थी व बेसिक शिक्षा विभाग के अधिकारी पसीने से भीग गए। पंखा चालू कराने के लिए कर्मचारी एक-दूसरे का मुंह देखते रहे। इस दौरान सभागार में बैठे एक व्यक्ति ने यह है सरकार की बिजली व्यवस्था कहकर चुटकी भी ली।

Edited By: Jagran