जासं, बलिया : उप्र जल निगम समन्वय समिति के बैनर तले अपनी मांगों को लेकर अधिकारियों व कर्मचारियों का चल रहा धरना गुरुवार को भी जारी रहा। उप्र जल निगम समन्यव समिति लखनऊ के निर्देश पर अब तक मांग पूरी न होने पर धरने को अब संघर्ष कार्यक्रम में परिवर्तन कर दिया गया। जिसमें अपनी मांगों के समर्थन में धरने का विस्तार करते हुए 17 जुलाई तक प्रदर्शन चलता रहेगा। इस दौरान समस्त घटक दल शामिल रहे। धरने को संबोधित करते हुए इंजीनियर स्वामी नाथ ने कहा कि उप्र जल निगम को शासकीय विभाग बनाए जाने एवं सातवां वेतनमान लागू होने तक धरना अनवरत रूप से चलता रहेगा। 19 जुलाई को समस्त सदस्य लखनऊ महारैली में प्रस्थान करेंगे। मजदूर यूनियन के अध्यक्ष अनिरूद्ध ¨सह ने कहा कि दिन-प्रतिदिन बढ़ रहे प्रदूषण के खतरे को देखते हुए जल निगम को शासकीय विभाग बनाया जाना आवश्यक है।

Posted By: Jagran