जागरण संवाददाता, बैरिया (बलिया) : समाज में हर व्यक्ति का दायित्व है कि वह पीड़ितों व शोषितों की सेवा में हाथ बंटाए। उनकी पीड़ा को कम करें, यही मानवता का तकाजा है और एमएलए, एमपी तो इसके बदले वेतन पाते हैं।

यह उद्गार विधायक सुरेंद्र सिंह के हैं, जो दो करोड़ 42 लाख रुपये की लागत से इब्राहिमाबाद में बने अग्निशमन केंद्र बैरिया का मंगलवार को लोकार्पण के बाद आयोजित सभा को संबोधित कर रहे थे। विधायक ने कहा कि मुझे यह कहने में थोड़ी भी हिचक नहीं है कि बलिया ने आजादी की लड़ाई में जितना बलिदान दिया है। उस हिसाब से बलिया का विकास किसी भी सरकार ने नहीं किया है। विधायक ने केंद्र व प्रदेश सरकार की उपलब्धियों पर प्रकाश डालते हुए कहा कि इस अग्निशमन केंद्र को जो भी संसाधन नहीं है, उसके लिए विभाग के लोग मुझे बताएं, अपनी विधायक निधि से हरसंभव संसाधन अग्निशमन केंद्र को उपलब्ध कराऊंगा। इससे पूर्व विधायक ने फीता काटकर अग्निशमन केंद्र का लोकार्पण किया।

मुख्य अग्निशमन अधिकारी धीरेंद्र सिंह यादव ने अगलगी की घटनाओं को रोकने, आग लगने पर क्या करें, इस संदर्भ में जानकारी दी। कार्यक्रम को पुलिस उपाधीक्षक अशोक कुमार सिंह, भाजपा के जिलाध्यक्ष जयप्रकाश साहू, विजय बहादुर सिंह, पतिराम सिंह, वीरेंद्र शर्मा, गुप्तेश्वर पाठक, डब्लू सिंह, दिलीप गुप्त, नंदजी सिंह, रत्नेश सिंह सहित दर्जनों लोगों ने संबोधित किया। अध्यक्षता मंडल अध्यक्ष मंटू बिद व संचालन हरिकंचन सिंह ने किया।

संसाधनों की है कमी

संसाधनों के अभाव के बीच गर्मी को देखते हुए शुरू किया गया अग्निशमन केंद्र। यहां 16 फायरमैन की जगह आठ की पोस्टिग की गई है। तीन ड्राइवर की जगह एक ड्राइवर तैनात किया गया है। तीन गाड़ियों की जगह महज दो गाड़ी उपलब्ध कराई गई है। वहीं बिजली, पानी, टेलीफोन का इस अग्निशमन केंद्र पर अभी तक अभाव है। इसे दूर किए बिना केंद्र को पूरी तरह से उपयोग में नहीं लाया जा सकता है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस