जागरण संवाददाता, नगरा (बलिया) : शिक्षा क्षेत्र नगरा के 13 प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालयों के संतृप्तिकरण के लिए आपरेशन कायाकल्प के तहत कोई कार्य नहीं हुआ है। यहां के प्रधानाचार्यों ने योजना की पोल खोल कर रख दी है। उन्होंने कहा कि बालिकाओं व दिव्यांगजनों के लिए शौचालय तक का निर्माण नहीं हो सका है। यहां के प्रधानाध्यापकों ने विद्यालयों की स्थिति से बीआरसी पर स्थापित कंट्रोल रूम को अवगत कराया है। इसके बाद बीईओ निर्भय नारायण सिंह ने 19 पैरामीटर्स पर संतृप्तिकरण के लिए बीडीओ व एडीओ पंचायत को पत्र लिखा है। जिन विद्यालयों के प्रधानाध्यापकों ने आपरेशन कायाकल्प के तहत कार्य नहीं होने की सूचना कंट्रोल रूम को दी है उनमें प्राथमिक विद्यालय करीमपुर, चकिया, इंदासों, तुर्की नंबर एक, कसौंडर नंबर एक, उच्च प्राथमिक विद्यालय जूड़नपुर, गोठवां, खैरा निस्फी, तियरा हैदरपुर, कंपोजिट प्राथमिक विद्यालय भीमपुरा नंबर एक, नगरा नंबर दो, कंपोजिट उच्च प्राथमिक विद्यालय विसरुफ, गौवापार हैं। इसमें कंपोजिट प्राथमिक विद्यालय नगरा नंबर दो नगर पंचायत में है।

--

आपरेशन कायाकल्प के तहत असंतृप्त विद्यालयों को संतृप्त किए जाने हेतु बीईओ का पत्र मिला है। संबंधित प्रधान व सचिव को निर्देशित कर दिया गया है।

-प्रमोद कुमार सिंह

एडीओ पंचायत

नगरा।

Edited By: Jagran