जासं, रसड़ा (बलिया) : मिर्जापुर के परिषदीय विद्यालय में मध्याह्न भोजन में नमक रोटी परोसे जाने के समाचार को लेकर वहां के जिलाधिकारी द्वारा पत्रकारों पर दर्ज कराए गए फर्जी मुकदमा वापस लेने की मांग को लेकर गुरुवार को पत्रकारों ने प्रदर्शन किया।

ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन की तहसील इकाई के बैनर तले पत्रकार एकजुट हुए। नगर के गांधी पार्क में मौन धरना देकर विरोध प्रदर्शन किया। इसके पूर्व पत्रकारों ने तख्तियां लेकर नगर में जुलूस निकाला। तहसील कार्यालय पहुंचकर प्रदेश के राज्यपाल के नाम संबोधित पत्रक उपजिलाधिकारी के निजी सचिव को सौंपा। धरना सभा में पत्रकारों ने आरोप लगाया कि प्रशासन के निर्देश पर पत्रकारों को फर्जी मुकदमों में फंसाया जा रहा है। यह स्वस्थ लोकतंत्र व निष्पक्ष पत्रकारिता के विरुद्ध साजिश है।

मुकदमा वापसी तक पत्रकार इसका विरोध करते रहेंगे। यह चेतावनी भी दी कि यदि पत्रकारों पर दर्ज मुकदमे शीघ्र वापस नहीं लिए गए तो आंदोलन तेज होगा।

धरना-प्रदर्शन में मतलूब अहमद, रमाकांत सिंह, संजय शर्मा, अखिलेश सैनी, आलोक पांडेय, विनोद कुमार शर्मा, दिग्विजय सिंह, कृष्णमुरारी पांडेय, गोपाल जी, जेपी गिरि, शकील अहमद आदि की भागीदारी रही।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप