जागरण संवाददाता, बलिया : शनिवार को मॉडल रेलवे स्टेशन पर उस समय अफरातफरी मच गई जब अचानक डीआरएम वाराणसी आ धमके। सुबह तकरीबन पौने दस बजे के आस-पास प्लेटफार्म पर जैसे ही लखनऊ-छपरा के रुकने पर आम यात्रियों के साथ उतरे डीआरएम वीके पंजीयार ने स्टेशन परिसर का मौका मुआयना शुरू कर दिया। यह देख रेलवे कर्मचारियों में खलबली मच गई। सबसे पहले वह पार्सल घर पहुंचे और वहां का जायजा लिया। डीआरएम के आने की खबर लगते ही आननफानन आरपीएफ सर्कुलेटिग एरिया में मौजूद गाड़ियों को हटवाने में जुट गई। नतीजा यह रहा है कि कुछ ही देर में मॉडल स्टेशन पर सबकुछ ठीक हो गया। अक्सर सर्कुलेटिग एरिया में गाड़ियों का जहां जमावड़ा लगा रहता था, वहीं पूरी तरह नीट एंड क्लीन नजर आया। उधर पार्सल घर से बाहर निकल डीआरएम सीधे सर्कुलेटिग एरिया में पहुंच गए। जहां प्रवेश व निकास द्वार की तात्कालिक व्यवस्था देखने के बाद यात्री सुविधाओं की जानकारी ली। इस दरम्यान डीआरएम ने प्लेटफार्म पर पीने के पानी की माकूल व्यवस्था में कमी पाई और दोनों प्लेटफार्म पर वाटर कूलर लगाने का निर्देश दिया। इसके अलावा यात्री निवास में भूमि पर बैठे यात्रियों को देखकर चेयर बढ़ाने को संस्तुति की। साथ ही निर्माणाधीन स्वचालित सीढ़ी के निर्माण में तेजी लाने, स्टेशन परिसर के इर्द-गिर्द साफ-सफाई तथा पार्किंग व्यवस्था ठीक करने को कहा। वाशिग पिट व कोचिग कांप्लेक्स की प्रगति कार्यों की समीक्षा करने के अलावा स्टेशन के नए यार्ड का भी निरीक्षण किया और काम समय से पूरा करने को कहा। इसके बाद अपने स्पेशल सलून से छपरा के लिए रवाना हो गए। इस मौके पर अपर मंडल रेल प्रबंधक/इंफ्रास्ट्रक्चर प्रवीण कुमार, वरिष्ठ मंडल परिचालन रोहित गुप्ता, वरिष्ठ मंडल इंजीनियर द्वितीय प्रवीण कुमार पाठक, त्रयंबक तिवारी, जितेंद्र यादव, मंडल सुरक्षा आयुक्त ऋषि पांडेय, एके सुमन आदि मौजूद थे । सूखी टोटियों ने खोली व्यवस्था की पोल

छपरा-वाराणसी रेलखंड पर स्थित सुरेमनपुर रेलवे स्टेशन का औचक निरीक्षण करने पहुंचे डीआरएम वाराणसी ने स्टेशन परिसर, शौचालय, प्रतीक्षालय, सर्कुलेटिग एरिया, शुद्ध पेयजल व दोनों प्लेटफार्मो का निरीक्षण किया। इस दौरान पेयजल दु‌र्व्यवस्था, सर्कुलेटिग एरिया में गंदगी देख भड़क गए। डीआरएम ने कार्य निरीक्षक, फोरमैन व स्टेशन अधीक्षक को जमकर फटकार लगाई। प्लेटफार्म पर शो पीस बनी पानी टंकियों को देखकर नाराजगी जाहिर करते हुए कार्य निरीक्षक ज्ञानेंद्र सिंह को तत्काल ठीक कराने को कहा। वहीं सांसद निधि से लगा आरओ प्लांट खराब होने पर फोरमैन अजय सिंह को खरीखोटी सुनाई। इसके अलावा नए आरओ वॉटर कूलर, तथा पंखा लगाने का आदेश दिया। सर्कुलेटिग एरिया व प्लेटफार्म पर गंदगी के लिए स्टेशन अधीक्षक टार्गेट पर रहे। वहीं मौके पर मौजूद यात्रियों ने आरक्षित टिकट न मिलने की शिकायत की। कहा कि आए दिन लिक फेल होने की बात कहकर रिजर्वेशन टिकट नहीं दिया जाता है। तत्काल टिकट के लिए एक दिन पहले से लाइन लगाना पड़ता है बावजूद टिकट नहीं मिल पाता। इस पर डीआरएम ने संबंधितों को जमकर फटकार लगाई और सुधार करने को कहा। इस मौके पर डीआरएम के अलावा इंजीनियरों की टीम व आरपीएफ कमांडेंट ऋषि पांडेय मौजूद थे।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran