जागरण संवाददाता, बलिया: शहर के रेलवे क्रासिग के पास स्थित इंदिरा मार्केट के पीछे गुरुवार के कटहलनाला में डूबे राजा (35) निवासी बहेरी का तीसरे दिन शनिवार को घटना स्थल से एक किमी दूरी पर चाभी के पास मिला। इसे प्रशासन ने राहत की सांस ली। वहीं सिटी मजिस्ट्रेट वृज किशोर दुबे ने परिजनों को आíथक सहायता दिलाने का भरोसा दिया। इसके बाद परिजनों ने शव पुलिस को सौंपा।

इंदिरा मार्केट के छत पर जुआ खेलते समय पुलिस को देख राजा पीछे कटहलनाला में कूद गया। इसके बाद उसका कोई पता नहीं चल सका। इसको लेकर काफी तनाव की स्थिति बन गई थी। पुलिस ने भी पूरी तरह से माहौैल पर नजर बनाए रखा। दो दिनों तक अथक प्रयास के बाद भी शव बरामद नहीं हो सका। तीसरे दिन एडीआरएफ की टीम शव की तलाश में जुट गई। घटना स्थल से एक किमी तक गोताखोरों ने शव की तलाश में लग गई। इसी बीच एक किमी की दूरी पर रामपुर महावल स्थित चाभी के पास शव बरामद हो गया। इसके बाद उसके परिवार में कोहराम मच गया।

परिवार के सदस्य शव को लेकर घर चले गए। इसके बाद पुलिस को देने से इंकार करने लगे। इसकी खबर पाते ही सीओ सिटी अरुण कुमार सिंह, कोतवाल विपिन सिंह व चौकी इंचार्ज अमित सिंह मौके पर पहुंच कर परिवार वालों के समझाने बुझाने में लग गए। सिटी मजिस्ट्रेट ने मृतक के परिजनों को आíथक सहायता देने का आश्वासन दिया। इसके बाद शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। डीएम व एसपी ने भी ली घटना की जानकारी

डूबे युवक का शव मिलने के बाद सड़क पर जुटे लोगों के बीच जिलाधिकारी हरि प्रताप सिंह व पुलिस अधीक्षक देवेंद्र नाथ पहुंच गए। अधिकारियों ने पूरी घटना की जानकारी लेने के बाद चल दिए। अधिकारी द्वय अयोध्या पर आने वाले निर्णय को लेकर शांति व्यवस्था के लिए रसड़ा की तरफ गए हुए थे। वहां से वापस आते समय भीड़ देखकर अपना काफिला रोक दिए। घटना की जानकारी लेने के बाद आवश्यक निर्देश दिए।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप