जागरण संवाददाता, बलिया: सोमवार को जिला जेल में महिला बंदियों व उनके बच्चों के बीच गर्म कपड़े वितरित किए गए। जिलाधिकारी हरि प्रताप शाही ने सबका हालचाल लेने के साथ कुछ सकारात्मक संदेश भी दिए। सभी कैदियों को योग के जरिए निरोग रहने पर विशेष जोर दिया।

डीएम ने कहा कि जेल में समय का सही दिशा में सदुपयोग करने का प्रयास करें। जेल एक सुधार गृह होता है, लिहाजा यहां से कुछ अच्छा सीख कर जाएं। इससे पहले जेल प्रशासन ने जेल में चलने वाली दिनचर्या के साथ स्वच्छता व शिक्षा के लिए किए जा रहे प्रयास को बताया। विशेष तौर पर योग के बारे में जानकारी लेने पर योग शिक्षक ने बताया कि पिछले 9 वर्ष से योग कराया जा रहा है। इसमें आठ तरह के व्यायाम व 40 आसन कराए जाते हैं। इसके लाभ पर चर्चा के दौरान बताया कि एक व्यक्ति को 240 सुगर था और व्यायाम से वह नार्मल हो गया। जिलाधिकारी ने सभी कैदियों से योग के जरिए स्वास्थ्य सही रखने का संदेश दिया। बच्चों को दुलारा, टाफी-बिस्कुट बांटे

जिला जेल में सबसे खास बात यह रही कि हर बच्चों की पसंद के ऊनी कपड़े दिए गए। इस दौरान उन्होंने बच्चों को खूब दुलारा। एक-एक बच्चों को पास बुलाकर बातचीत की और टाफी-बिस्कुट दिए। कुछ ही देर में बच्चे भी जिलाधिकारी के साथ पूरी तरह घुलमिल गए। वहीं, जिलाधिकारी भी उन बच्चों से बातचीत कर काफी खुश नजर आए। इस दौरान सिटी मजिस्ट्रेट बृजकिशोर दुबे, जेल अधीक्षक प्रशांत मौर्य, जेलर डॉ. विनय कुमार समेत इनरव्हील क्लब की अध्यक्ष व सदस्य मौजूद थीं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस