Move to Jagran APP

बंदर के साथ Reel बना रहीं थीं नर्सें, पास में रखे थे सरकारी कागज; Viral होने पर प्राचार्य तक पहुंची बात, फिर हुआ ये...

महाराजा सुहेलदेव स्वशासी राज्य चिकित्सा महाविद्यालय एवं महर्षि बालार्क चिकित्सालय में छह नर्सें बंदर के बच्चे के साथ खेल रही थी। सभी बंदर के बच्चे के साथ रील बना रही थीं। इसका वीडियो भी इंटरनेट मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। प्राचार्य ने पूरे मामले की जांच करने के लिए तीन सदस्यीय टीम गठित की है। जांच के बाद छह नर्सों को निलंबित कर दिया गया है।

By Jagran News Edited By: Aysha Sheikh Tue, 09 Jul 2024 04:32 PM (IST)
ड्यूटी के समय रील बना रहीं मेडिकल कालेज की छह नर्सें निलंबित।

जागरण संवाददाता, बहराइच। महाराजा सुहेलदेव स्वशासी राज्य चिकित्सा महाविद्यालय एवं महर्षि बालार्क चिकित्सालय के प्राचार्य ने छह नर्सों को निलंबित कर दिया है। इस नर्सों पर वार्ड में बंदर के बच्चे के साथ खेलने और रील बनाने का आरोप है। इसका वीडियो भी इंटरनेट मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। प्राचार्य ने पूरे मामले की जांच करने के लिए तीन सदस्यीय टीम गठित की है।

बताया जा रहा कि वायरल वीडियो पांच जुलाई का है, जहां चिकित्सा महाविद्यालय के नर्सिंग विभाग में सभी नर्स एक बंदर के बच्चे के साथ खेल रही थीं। तमाम सरकारी कागज भी रखे हुए थे, जिसे बंदर के बच्चे ने फाड़ने का भी प्रयास किया। लगभग 50 सेकेंड के वीडियो में बंदर बारी-बारी सभी नर्सों की गोद में जा रहा है और कागजों से खेल रहा है।

— Khushbu_journo (@Khushi75758998) July 9, 2024

रील बना रहीं मेडिकल कालेज की छह नर्सें निलंबित

प्राचार्य डा. संजय खत्री ने स्टाफ नर्स अंजली, किरन सिंह, आंचल शुक्ल, प्रिया, पूनम पांडेय और संध्या सिंह को निलंबित करते हुए पत्र लिखा है। उन्होंने उल्लेख किया है कि स्त्री और प्रसूति रोग विभाग में ड्यूटी के समय बंदर के बच्चे के साथ रील बनाने एवं कार्य में लापरवाही बरतने के साथ रील को सोशल मीडिया पर वायरल करने के चलते चिकित्सा महाविद्यालय की छवि धूमिल हुई है।

उन्होंने बताया कि जांच समिति का गठन भी किया  गया है, जिसमें डा. अनूप कुमार, डा. अशोकमणि त्रिपाठी व डा. अंजली शामिल हैं। तीन दिन में कमेटी के सदस्यों को अपनी रिपोर्ट देनी है। तब तक सभी को चिकित्सा महाविद्यालय में कार्य से प्रतिबंधित कर दिया गया है। मुख्य चिकित्सा अधीक्षक एमएमएम त्रिपाठी ने बताया कि जानकारी मिली है कि किरन नाम की स्टाफ नर्स इसे अपने साथ लेकर आई थी।

ये भी पढ़ें - 

UP News: सैलून में चल रहा था जिस्मफरोशी का धंधा, सिर्फ 800 रुपये में... पुलिस ने पहुंचकर सबसे पहले किया ये काम