संसू, नानपारा(बहराइच) : कोतवाली नानपारा क्षेत्र के नूरीपुरवा गांव में बच्चों के विवाद को लेकर हुई कहासुनी के बाद दो समुदाय के लोग आमने-सामने आ गए। समुदाय विशेष के लोगों ने दूसरे वर्ग के घरों पर हमला कर दिया। पथराव किया और परिवार के लोगों की जमकर पिटाई की। हमले में चार महिलाओं समेत छह लोग घायल हो गए। सूचना पर पहुंची यूपी 100 पुलिस टीम पर भी हमलावरों ने पथराव किया। पुलिस जब हरकत में आई तो हमलावर गन्ने के खेतों में घुसकर भाग गए। दोनों पक्षों की तहरीर पर नौ लोगों के खिलाफ मारपीट का मुकदमा दर्ज किया गया है।

नूरीपुरवा निवासी तिलकराम व किस्मत अली के बेटे गांव के ही प्राथमिक विद्यालय में पढ़ते हैं। बुधवार को दोनों बच्चों में खेलने के दौरान विवाद हो गया। बच्चों ने घर पहुंचकर इसकी शिकायत की। इस पर दोनों घरों की महिलाओं में कहासुनी के बाद हाथापाई हुई। लोगों ने समझा बुझाकर मामले को शांत करा दिया। कुछ घंटे बाद किस्मत अली अपने सहयोगी शहीद, गौपासू व एक दर्जन से अधिक लोगों के साथ लाठी-डंडों से लैस होकर तिलकराम के घर पर धावा बोलकर पथराव करने लगे। परिवारजनों ने जब इसका विरोध किया तो लाठी-डंडों से उनकी पिटाई शुरू कर दी। इसमें मायाराम, सीमा, पार्वती, किरन समेत छह लोग घायल हो गए। चीख पुकार सुनकर गांव के लोग मौके पर पहुंचे, लेकिन हमलावरों के आक्रोश को देखकर लोग सहम गए। घटना की जानकारी यूपी 100 पुलिस को दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस टीम पर भी हमलावरों ने पथराव शुरू कर दिया। जब नानपारा पुलिस गांव में पहुंची तो हमलावर भाग खड़े हुए। तनाव की स्थिति को देखते हुए गांव में तीन थानों की फोर्स तैनात कर दी गई है। कोतवाल संतोष सिंह ने बताया कि दोनों पक्षों की तहरीर पर नौ लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। एएसपी रवींद्र सिंह ने पुलिस टीम पर पथराव की घटना से इनकार किया है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021