संवादसूत्र, श्रावस्ती: आíथक रूप से कमजोर किसानों को खेती-किसानी में पूंजी के लिए साहूकारों के आगे हाथ न फैलाना पड़े इस उद्देश्य से शुरू की गई फसली ऋण व्यवस्था का विस्तार किया गया है। अब पशुपालक व मत्स्य पालक भी तीन प्रतिशत ब्याजदर पर ऋण पाने के लिए किसान क्रेडिट कार्ड बनवा सकते हैं। 31 जुलाई तक न्याय पंचायतवार कैंप लगाकर आवेदन लिया जाएगा।

जिला कृषि अधिकारी आरपी राना ने बताया कि भारत सरकार ने कृषकों के अलावा पशुपालकों एवं मत्स्य पालकों को भी किसान क्रेडिट कार्ड उपलब्ध कराने का निर्णय लिया है। न्याय पंचायत स्तर पर लगने वाले कैंप में अथवा किसान स्वयं अपना आधार कार्ड, खसरा व खतौनी लेकर बैंक से संपर्क कर किसान क्रेडिट कार्ड बनवा सकते हैं।

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran