बहराइच : जिले के तीनों बैराजों से शुक्रवार को तीन लाख 105 क्यूसेक पानी छोड़ा गया। एल्गिन ब्रिज पर लाल निशान के 15 सेंटीमीटर नीचे पहुंच कर एक बार फिर घाघरा का जलस्तर स्थिर हो गया।

शुक्रवार को एल्गिन ब्रिज पर घाघरा का जलस्तर लाल निशान 106.07 मीटर के सापेक्ष 105.916 मीटर रिकार्ड किया गया, जबकि घूरदेवी स्पर पर घाघरा का जलस्तर लाल निशान 112.135 मीटर के सापेक्ष 111.500 मीटर रिकार्ड किया गया। यहां नदी लाल निशान से 63 सेंटीमीटर नीचे बह रही हैं।

सरयू ड्रेनेज खंड प्रथम के सहायक अभियंता बीबी पाल ने बताया कि आज सुबह शारदा बैराज से एक लाख 53 हजार 584, गिरिजापुरी बैराज से एक लाख 37 हजार 234 व सरयू बैराज से नौ हजार 287 क्यूसेक पानी छोड़ा गया।

पानी ठहरने से फसल के सड़ने का संकट : घाघरा के तटवर्ती छत्तरपुरवा, तारापुरवा, पंडितपुरवा, सिलौटा, रानीबाग आदि निचले गांवों में बाढ़ का पानी ठहर गया है। तटवर्ती किसानों राजन मिश्र, विवेक तिवारी, अनवर खान, दिनेश कुमार ने बताया कि फसल के सड़ने का संकट बढ़ गया है। महसी तहसील क्षेत्र के तिकुरी गांव में नरेश, जगतराम व अर्जुन का आधे से अधिक मकान धारा में समाहित हो गया।

नौ कटान पीड़ितों को भेजा गृह अनुदान

महसी : तहसील प्रशासन ने कटान पीड़ितों नौ लोगों को गृह अनुदान भेजा है। तहसीलदार राजेश कुमार वर्मा ने बताया कि कायमपुर गांव के लल्लू, रामदुलारी, हकीमा, पिपरी के महेश, तिकुरी के रमेश, तेजराम, सुरेश, रामनरेश व अनीता के खाते में गृह अनुदान भेजा गया है।

जिले की नदियों का जलस्तर

नदी-बैराज-लाल निशान-जलस्तर

घाघरा-गिरजापुरी-136.80-135.40

घाघरा- एल्गिन ब्रिज-106.07-105.916

घाघरा-घूरदेवी-112.135-111.500

सरयू-गोपिया-133.55-131.10

शारदा-शारदा-135.49-135.20

(जलस्तर मीटर में है)

Edited By: Jagran