Move to Jagran APP

Bahraich: दो घंटे रही तड़पती… पूर्व विधायक की पोती का नहीं शुरू हुआ इलाज, डॉक्टरों की लापरवाही पर भड़के परिजन; धरना पर बैठे

कोतवाली देहात क्षेत्र के सिविल लाइन स्थित रायपुर राजा निवासी पूर्व विधायक स्व. जटाशंकर सिंह की 16 वर्षीय पोती चेष्ठा सूर्यवंशी को सांस लेने में परेशानी होने पर शनिवार दोपहर अस्पताल में भर्ती कराया गया। बेटी को लेकर आए पूर्व विधायक के पुत्र देवेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि बेटी की हालत गंभीर बनी थी। मौके पर मौजूद चिकित्साकर्मियों से स्वजन इलाज शुरू करने की लगातार मनुहार करते रहे लेकिन...

By Jagran News Edited By: Riya Pandey Sat, 08 Jun 2024 04:58 PM (IST)
इलाज के लिए दो घंटे तक तड़पती रही पूर्व विधायक की पोती

जागरण संवाददाता, बहराइच/चित्तौरा(बहराइच)। शनिवार दोपहर पूर्व विधायक जटाशंकर सिंह के पुत्र अपनी बेटी का इलाज कराने मेडिकल कालेज से संबद्ध जिला अस्पताल आए थे। लगातार मनुहार के बाद भी चिकित्साकर्मियों की लापरवाही देख वह भड़क गए।

मामले की शिकायत अधिकारियों से किए जाने के बाद भी जब इलाज नहीं शुरू हुआ, तो वह अपने स्वजन व समर्थकों के साथ आपात कक्ष के बाहर धरने पर बैठ गए।

उन्होंने कहा कि मेडिकल कालेज में तैनात कर्मी अपनी लापरवाही से लगातार सरकार की छवि खराब कर रहे हैं और जिम्मेदार मामले में लीपापोती करते नजर आ रहे हैं।

पूर्व विधायक की पौत्री की हालत गंभीर

कोतवाली देहात क्षेत्र के सिविल लाइन स्थित रायपुर राजा निवासी पूर्व विधायक स्व. जटाशंकर सिंह की 16 वर्षीय पोती चेष्ठा सूर्यवंशी को सांस लेने में परेशानी होने पर शनिवार दोपहर अस्पताल में भर्ती कराया गया। बेटी को लेकर आए पूर्व विधायक के पुत्र देवेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि बेटी की हालत गंभीर बनी थी।

मौके पर मौजूद चिकित्साकर्मियों से स्वजन इलाज शुरू करने की लगातार मनुहार करते रहे, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। सीएमएस एमएमएम त्रिपाठी से शिकायत करने पर उन्होंने डा. रजत मिश्र को मरीज को देखने के लिए कहा, लेकिन वह मौके तक नहीं आए।

जब परिवारजन ने स्वयं डा. रजत से मरीज देखने की गोहार लगाई तो उन्होंने अपने जूनियर को भेज दिया। लापरवाही व मरीज की बिगड़ती हालत देख पूर्व विधायक के परिवारजन आक्रोशित होकर धरने पर बैठ गए।उनका कहना है कि जब भाजपा के विधायक रहे दिवंगत नेता के परिवारजन के साथ इस तरह का बर्ताव किया जा रहा है तो इलाज के लिए आने वाले आम आदमी का भगवान ही मालिक होगा।

इलाज शुरू होने पर हटा धरना

अस्पताल में धरने की जानकारी मिलते ही नगर कोतवाल मनोज पांडेय, घंटाघर चौकी प्रभारी आलोक सिंह पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। काफी मान-मनौव्ल के बाद इलाज शुरू होने पर परिवारजन धरने से हटे।

जिला अस्पताल सीएमएस डा. एमएमएम त्रिपाठी के अनुसार, पूर्व विधायक के बेटे ने शिकायती पत्र दिया है। उनकी शिकायत को गंभीरता से लिया गया है। पूरे मामले की जांच कराई जाएगी।

यह भी पढ़ें- Murder in Bahraich: नमाज पढ़ने गए अधेड़ की चाकुओं से गोदकर हत्या, आरोपित फरार, घटना से मचा हड़कंप