बहराइच : घाघरा व सरयू में बाढ़ के चलते तटवर्ती गांव के लोग पलायन को मजबूर हैं। इसमें लोगों की जानें भी जा रही हैं। 24 घंटे में किशोरी समेत छह लोग बाढ़ के पानी में डूबे हैं। इनमें पांच की मौत हो चुकी है, जबकि एक युवक लापता है। स्थानीय गोताखोरों की मदद से शव बरामद करने का प्रयास किया जा रहा है। 60 गांवों में बाढ़ का पानी भरा हुआ है। कई गांवों तक अभी प्रशासन की ओर से मदद नहीं पहुंचाई गई है। घाघरा खतरे के निशान से 1.09 मीटर ऊपर बह रही है।

जरवलरोड : थाना क्षेत्र के तपेसिपाह के सोहनपुरवा की 14 वर्षीय सोनी चरसंडी बांध पर गई थी। अचानक बाढ़ के पानी में डूबकर मौत हो गई। बौंडी : थाना क्षेत्र के शुकुलपुरवा निवासी 16 वर्षीय परमेश शौच के लिए गया था। बहाव तेज होने के कारण वह डूब गया। काफी प्रयास के बाद उसका शव बरामद किया गया, जबकि समदा निवासी 25 वर्षीय मुंसिफ अली सड़क से गुजरते समय तेज बहाव में बह गए। अभी तक उनका पता नहीं चल सका है। गोताखोर शव बरामद करने के लिए लगे हुए हैं। कैसरगंज : पासिनपुरवा निवासी 30 वर्षीय रामसंवारे मवेशियों के लिए चारा लेने गए थे। गहरे पानी में पैर फिसलने से उनकी भी मौत हो गई। इसी थाना क्षेत्र के बहरइचनपुरवा में 14 वर्षीय संतोष व मंझारा तौंकली के घगही की 17 वर्षीय अंजली की बाढ़ के पानी में डूबकर मौत हो गई। एल्गिन ब्रिज पर घाघरा का जलस्तर 107.156 मीटर रहा। एडीएम जयचंद्र पांडेय ने बताया कि मृतकों के पोस्टमार्टम के बाद अहेतुक सहायता राशि पीड़ित परिवारजनों को मुहैया कराई जाएगी। ----------- बाढ़ से प्रभावित गांव - महसी, कैसरगंज व मिहींपुरवा तहसील क्षेत्र के गोलागंज, कायमपुर, जर्मापुर, सिलौटा, तारापुरवा, प्रह्लादपुरवा, नागेश्वरपुरवा, छतरपुरवा, मथुरापुरवा, चुन्नीलालपुरवा, परेड टेपरा, बौंडी समेत 60 गांव बाढ़ के पानी से डूब गए है। बाढ़ में बही पुलिया

गजाधरपुर : फखरपुर थाना क्षेत्र के ग्राम पंचायत कंदौली में भकोसा नाले पर दो साल पहले ग्रामपंचायत की ओर से बनाई गई पुलिया बाढ़ के पानी के तेज बहाव के कारण बह गई। इससे गांव के लोगों का आना-जाना ठप हो गया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस