संसू, बिछिया(बहराइच) : कतर्निघाट वन्य जीव प्रभाग के जंगल से सटे गांवों में तेंदुए का खौफ जारी है। मंगलवार शाम बाइक सवारों को तेंदुए ने दौड़ा लिया। जान बचाने के लिए बाइक सवार शोर मचाते हुए तेज रफ्तार में भागते रहे। चीख-पुकार सुनकर एकत्र हुए ग्रामीणों ने गोला दागा और हांका लगाना शुरू किया तब जाकर तेंदुआ जंगल की ओर भाग गया।

सुजौली थाना क्षेत्र के चहलवा निवासी मिथलेश बाइक से मिहीपुरवा गए थे। उनके साथ गांव निवासी आजाद भी गए थे। देर शाम मिहीपुरवा से दोनों घर जा रहे थे। मुर्तिहा से निशानगाड़ा जाने वाले मार्ग पर पहुंचते ही झाड़ियों में छिपे तेंदुए ने उन्हें दौड़ा लिया। जान बचाकर बाइक सवार आगे-आगे चिल्लाकर भागते रहे और तेंदुआ लगातार दौड़ता रहा। इससे पहले भी मूर्तिहा के एक युवक पर गंगापुर से वापस जाते समय तेंदुए ने दौड़ाकर हमला किया था। तेंदुए के बाइक सवारों पर हमला करने की यह तीसरी घटना है। लगातार हमले से जंगलवर्ती गांव में रहने वाले लोगों में दहशत है। साथ ही बाइक से चलने वाले लोगों पर भी तेंदुए का खौफ छा गया है। डीएफओ ज्ञान प्रकाश सिंह ने बताया कि जंगल में लोग समूह बनाकर चलें। अकेले आने-जाने में सर्तकता बरतें। वनकर्मियों को भी मुस्तैद किया गया है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप