बागपत, जेएनएन। माफिया अवैध बालू खनन कर यमुना खादर में मौत के कुंड बना रहे हैं। यमुना खादर में एनजीटी के आदेश का खुल्लमखुला उल्लंघन किया जा रहा है। पुलिस-प्रशासन और खनन विभाग की निष्क्रियता के कारण माफिया रात ही नहीं दिन में भी खुलेआम खादर से बालू निकाल रहे हैं। खनन करने वालों ने यमुना नदी के अंदर और बाहर रास्ते बना रखे हैं। कूरडी, छपरौली व नांगल के सामने वाले रास्ते पर हर रोज बालू लाया जाता है। बालू की चोरी का यह खेल तड़के चार बजे से शुरू हो जाता है जो दोपहर दो बजे तक चलता है। रात आठ बजे यमुना नदी में ट्रैक्टर के इंटिकेटर के सहारे वाहन से बालू लाया जाता है। खनन करते समय ट्रैक्टर की लाइटों को बंद रखा जाता है। बालू चोरी के वाहन को पार कराने के लिए बाइक का सहारा लिया जाता है। बालू खनन की वजह से हुए बड़े-बड़े गड्ढे इस बात के प्रत्यक्ष गवाह हैं कि खादर में बालू करने पर कोई रोक-टोक नहीं की जाती है।

एसडीएम गुलशन कुमार ने बताया कि इसकी जांच कराई जाएगी और यदि अवैध खनन होता मिलता है तो उसे बंद कराया जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस