बागपत, जेएनएन। डीएम शकुंतला गौतम ने मंगलवार को कलक्ट्रेट सभागार में अधिकारियों की बैठक लेकर महिला एवं बाल कल्याण विभाग की योजनाओं की समीक्षा की है। डीएम ने अधिकारियों का बाल विवाह रोकने का चौकन्ना रहने और अभिभावकों को जागरूक करने का अभियान चलाने का निर्देश दिया है। बालिकाओं के मेडिकल जरूरत पड़ने पर कराएं, लेकिन सीएमओ रिपोर्ट देने में देरी कतई न करें। जिला टास्क फोर्स एवं एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिग यूनिट के सदस्य सक्रिय रहे। बाल विवाह रोकने तथा बालिकाओं को शिक्षा के प्रति जागरूक करने को गांवों में महिला व छोरियों की चौपाल लगाने का काम करें।

-------

बाल श्रम न होने दें अधिकारी

जिला पंचातय अध्यक्ष रेनू धामा ने जिला बाल संरक्षण समिति की बैठक लेकर अधिकारियों को बाल श्रम रोकने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि 18 साल आयु से कम के बाल श्रमिकों को चिन्हित कर श्रम प्रवर्तन विभाग के अधिकारी सूची बनाकर उनकी शिक्षा की व्यवस्था करें। डीएम शकुंतला गौतम ने अधिकारियों को सार्वजनिक स्थलों पर हेल्पलाइन नंबर-1098, 181 व 1090 को अंकित कराने के निर्देश दिए, ताकि जरूरत पड़ने पर बच्चे और बालिकाएं उन पर फोन कर मदद ले सकें। सीएमओ डा. आरके टंडन, विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव साबिर अली, जिला प्रबोबेशन अधिकारी विमल कुमार ढाका, सीओ ओमपाल सिंह, बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष राजीव यादव और बाल संरक्षण अधिकारी दीपांजलि आदि मौजूद रहे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021