बागपत, जेएनएन। ढिकौली गांव में बारिश से मकान व दीवार गिरने से बच्ची समेत तीन लोग चोटिल हुए। मलबे में दबकर रखा हजारों का सामान क्षतिग्रस्त हो गया। ग्रामीणों ने पीड़ित की मदद की मांग प्रशासन से की है।

निरंतर हो रही बारिश से मकान गिरने का सिलसिला जारी है। बारिश के बाद मकान व दीवारें गिर रही हैं। ढिकौली गांव में असलम पुत्र असरफ मकान व दीवार गिर गई। पीड़ित ने बताया कि मलबे की चपेट में आने से पत्नी जायदा व पुत्री नेहा संग वह भी घायल हुआ। प्राइवेट डाक्टर से घायलों का इलाज कराया। मलबे में दबने से फ्रिज, वाशिग मशीन, संदूक व अन्य घरेलू सामान भी नष्ट हुआ। पीड़ित का हजारों का नुकसान हुआ। ग्रामीणों ने पीड़ित की आर्थिक मदद किए जाने की मांग प्रशासन से की है। इससे पूर्व ढिकौली के साथ खटटा प्रह्लादपुर, रटौल, चमरावल, गढ़ी कलंजरी, सरफाबाद आदि गांव में भी मकान व दीवार गिरने से ग्रामीणों का काफी नुकसान हो चुका है। मरम्मत के अभाव में जर्जर हुआ रोड

वायुसेना स्थल चांदीनगर को ढिकौली बंथला मार्ग से जोड़ने वाला मुख्य मार्ग बदहाल है।

गहरे गड्ढे से मार्ग पर दो पहिया वाहन गुजरना भी मुश्किल हो गया। इसी तरह बागपत मुरादनगर मार्ग की भी यही स्थिति है। चमरावल चौराहे पर हर समय पानी भरा रहने से एक से दो फीट तक के गड्ढे बन गए हैं।

चांदीनगर मार्ग का निर्माण सालों पूर्व हुआ है। विभागीय लापरवाही से लोगो में आक्रोश है। क्षेत्र के लोगों ने जल्द मार्ग निर्माण नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी। राजपाल, संजय, दीपक, मनोज आदि शामिल रहे।

Edited By: Jagran